फोटो गैलरी

Hindi News पंजाबकोहरे के कारण बदला पंजाब के स्कूलों का समय, अब जानिए कितने बजे खुलेंगे

कोहरे के कारण बदला पंजाब के स्कूलों का समय, अब जानिए कितने बजे खुलेंगे

पंजाब में दो दिन पहले बारिश होने के बाद ठंड ने रफ्तार पकड़ ली है। शनिवार को सुबह कई जिलों में कोहरा छाया। आने वाले दिनों में भी पंजाब में धुंध छाई रहेगी।

कोहरे के कारण बदला पंजाब के स्कूलों का समय, अब जानिए कितने बजे खुलेंगे
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Sat, 02 Dec 2023 10:50 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब में बदलते मौसम को देखते हुए स्कूलों के समय में बड़ा बदलाव किया गया है। पंजाब में अब स्कूल सुबह 9 बजकर 30 मिनट पर खुलेंगे। शिक्षा मंत्री हरजोत बैंस ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि पंजाब में अब सरकारी और प्राइवेट स्कूल सुबह साढ़े 9 बजे खुलेंगे और साढ़े बजे छुट्टी होगी। मुख्यमंत्री भगवंत मान के दिशा-निर्देशों के मुताबिक राज्य के कई हिस्सों गहरी धुंध पड़ रही है। 

धुंध और मौसम में बदलाव के कारण स्टूडेंट्स और टीचर्स की सेहत सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पंजाब सरकार सूबे के सभी सरकारी, एडिड, मान्यता प्राप्त और प्राइवेट स्कूलों के खुलने का समय सुबह साढ़े 9 बजे और छुट्टी का समय साढ़े 3 बजे कर दिया है। यह आदेश 4 दिसंबर सोमवार से 23 दिसंबर शनिवार तक सभी प्राइमरी, मिडल, हाई और सीनियर सैकेंडरी स्कूलों पर एक साथ लागू होंगे।

घने कोहरे के कारण कई स्थानों पर दृश्यता घटी
पंजाब में दो दिन पहले बारिश होने के बाद ठंड ने रफ्तार पकड़ ली है। शनिवार को सुबह कई जिलों में कोहरा छाया। आने वाले दिनों में भी पंजाब में धुंध छाई रहेगी। बारिश से एयर क्वालिटी इंडेक्स में सुधार होगा हुआ है।  पंजाब में शनिवार को सुबह घने कोहरे के कारण कई स्थानों पर दृश्यता घट गई। इस दौरान यातायात प्रभावित रहा। अमृतसर, लुधियाना, पटियाला, हलवारा, आदमपुर, बठिंडा, मोहाली और रूपनगर सहित कई हिस्सों में कोहरे के कारण दृश्यता काफी कम रही।

6.9 डिग्री तापमान के साथ पठानकोट सबसे ठंडा
बारिश के बाद से तापमान लगातार गिरता जा रहा है। चंडीगढ़ में 12.6 डिग्री, अमृतसर में 11 डिग्री, पटियाला में 12.4 डिग्री और लुधियाना में 19.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। शुक्रवार को पठानकोट का न्यूनतम तापमान 6.9 डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है जोकि पूरे पंजाब में सबसे कम रहा है। राज्य सरकार ने बच्चों के स्वास्थ्य और सुरक्षा के मद्देनजर ये फैसला लिया है। जो स्कूल इस आदेश का पालन नहीं करेगा उस पर कार्रवाई होगी। 

रिपोर्ट: मोनी देवी

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें