फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ पंजाबPunjab: जेल से बाहर आकर ही क्या कर लेंगे सिद्धू? प्रियंका के संदेशे के बीच कांग्रेस नेताओं का अंदेशा

Punjab: जेल से बाहर आकर ही क्या कर लेंगे सिद्धू? प्रियंका के संदेशे के बीच कांग्रेस नेताओं का अंदेशा

कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाल ही में एक सहयोगी के माध्यम से सिद्धू को जेल में संदेशा भिजवाया था। चर्चा है कि रिहाई के बाद सिद्धू को बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है।

Punjab: जेल से बाहर आकर ही क्या कर लेंगे सिद्धू? प्रियंका के संदेशे के बीच कांग्रेस नेताओं का अंदेशा
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़।Sun, 04 Dec 2022 09:06 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू को भले ही तीनों छूट प्राप्त हो जाएं, उन्हें कम से कम दो महीना और जेल में बिताना होगा। हालांकि, उनकी संभावित रिहाई और पार्टी में उन्हें अहम भूमिका दिए जाने की अटकलें कांग्रेस के कई नेताओं को असहज कर रही हैं। हाल ही में खबर आई थी कि कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाल ही में एक सहयोगी के माध्यम से सिद्धू को जेल में संदेशा भिजवाया था। कांग्रेस में इस बात की चर्चा है कि रिहाई के बाद सिद्धू को पार्टी के भीतर अहम भूमिका दी जा सकती है। 

इस खबर के बीच आग में घी देने का काम सिद्धू के मीडिया सलाहकार सुरिंदर दल्ला ने किया। उन्होंने दो दिन पहले ट्वीट किया था, "सिद्धू के जेल से लौटने के बाद मिशन 2024 की शुरुात होगी। पंजाब के अधिकारों के लिए लड़ाई शुरू होगी। पंजाब आज भी उसी मोड़ पर खड़ा है जहां से सिद्धू अपने पंजाब मॉडल के सहारे इसे निकालना चाहते थे। पंजाब के इंजन को बदलने की जरूरत है।''

पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि कांग्रेस 2022 के चुनाव से पहले ही पंजाब में बर्बाद होगी। उन्होंने पूछा, ''सिद्धू को जिम्मेदारी देकर क्या हम पार्टी को और बर्बाद करना चाहते हैं?''

सिद्धू के एक सहयोगी ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि पूर्व क्रिकेटर की 2024 के लोकसभा चुनाव लड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं थी, लेकिन वह निश्चित रूप से पार्टी के लिए काम करेंगे और अपनी रिहाई के बाद इसे मजबूत करेंगे। नाम न छापने की शर्त पर एक कांग्रेस नेता ने कहा, ''आप सिद्धू को एक पूरी तरह से बदले हुए व्यक्ति के रूप में देखेंगे। दृढ़ विश्वास ने उन्हें काफी हद तक बदल दिया है। बस समय की प्रतीक्षा करें। सब कुछ आपकी आंखों के सामने होगा।''

उन्होंने कहा, ''वह विपक्ष के रूप में मजबूत होंगे। पार्टी को एक मजबूत नेता की जरूरत है। पंजाब का बुरा हाल है। सरकार को भी ऐसे विपक्ष की जरूरत है।''

सिद्धू कि रिहाई को लेकर कई कांग्रेस सतर्क हैं। एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ''जब सिद्धू को पीपीसीसी प्रमुख बनाया गया तो उन्होंने क्या किया? कांग्रेस के पास फिर से चुनाव जीतने का सुनहरा अवसर था। लेकिन पार्टी में बहुत अधिक अंतर्कलह थी। सिद्धू हमेशा अपनी ही पार्टी की सरकार का विरोध कर रहे थे।''

उन्होंने कहा कि सिद्धू अभी भी नहीं बदले हैं। कांग्रेस नेता ने कहा, ''वह जेल में ज्यादातर कांग्रेस नेताओं से नहीं मिल रहे हैं। कांग्रेस नेता एकजुटता व्यक्त करने के लिए उनसे मिलना चाहते थे। लेकिन उन्होंने इनकार कर दिया। यह कोई तरीका है क्या? जब वह बाहर आएंगे तो क्या करेंगे?''