फोटो गैलरी

Hindi News पंजाबपराली जलाने को लेकर किसानों पर ऐक्शन, पंजाब पुलिस ने दर्ज किए 930 से अधिक FIR

पराली जलाने को लेकर किसानों पर ऐक्शन, पंजाब पुलिस ने दर्ज किए 930 से अधिक FIR

सीनियर अधिकारी ने कहा कि पराली जलाने से रोकने के लिए पंजाब पुलिस की ओर से किए गए ठोस प्रयासों के महत्वपूर्ण परिणाम मिले हैं। बीते दो दिनों में पराली जलाने के मामलों में बड़ी गिरावट आई है।

पराली जलाने को लेकर किसानों पर ऐक्शन, पंजाब पुलिस ने दर्ज किए 930 से अधिक FIR
Niteesh Kumarभाषा,चंडीगढ़Sun, 19 Nov 2023 10:25 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब पुलिस ने 8 नवंबर से पराली जलाने को लेकर किसानों के खिलाफ 932 प्राथमिकी दर्ज की हैं, जबकि इससे जुड़े 7,405 मामलों में 1.67 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है। एक सीनियर अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी। विशेष पुलिस महानिदेशक अर्पित शुक्ला के अनुसार, पराली जलाने को लेकर 340 किसानों के राजस्व रिकॉर्ड में एंट्रिज दर्ज की गई हैं। उन्होंने कहा कि पराली जलाने से रोकने के लिए पंजाब पुलिस की ओर से किए गए ठोस प्रयासों के महत्वपूर्ण परिणाम मिले हैं। बीते दो दिनों में पराली जलाने के मामलों में बड़ी गिरावट आई है। राज्य में पराली जलाने के रविवार और शनिवार को क्रमशः 740 और 637 मामले दर्ज किए गए।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में अक्टूबर और नवंबर माह के दौरान वायु प्रदूषण के स्तर में खतरनाक वृद्धि के पीछे पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने को एक बड़ा कारण माना जाता है। शहर का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) रविवार सुबह सात बजे 290 रहा। दिल्ली में शनिवार को एक्यूआई 319, शुक्रवार को 405 और गुरुवार को 419 रहा। वहीं, हरियाणा और पंजाब के कई हिस्सों में वायु गुणवत्ता सूचकांक बहुत खराब और खराब श्रेणी में रहा। पंजाब के बठिंडा में एक्यूआई 298 दर्ज किया गया। एक्यूआई रूपनगर में 250, मंडी गोबिंदगढ़ में 239, लुधियाना में 234, पटियाला में 223, अमृतसर में 219, जालंधर में 202 और खन्ना में 171 दर्ज किया गया।

सोनीपत में AQI 392 दर्ज हुआ
हरियाणा के सोनीपत में एक्यूआई 392 दर्ज किया गया जो फतेहाबाद में 361, सिरसा में 352, फरीदाबाद में 328, जींद में 266, रोहतक में 260, भिवानी में 245, गुरुग्राम में 236 और कैथल में 212 रहा। पंजाब व हरियाणा की संयुक्त राजधानी और केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ में एक्यूआई 141 रहा। मालूम हो कि शून्य और 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बहुत खराब, 401 और 450 के बीच को गंभीर और 450 से ऊपर को 'अति गंभीर' माना जाता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें