DA Image
हिंदी न्यूज़ › पंजाब › मैंने पार्टी के लिए शादी नहीं की...नवजोत सिंह सिद्धू के नाम ऑडियो जारी कर कांग्रेस वर्कर ने किया सुसाइड, की यह मांग
पंजाब

मैंने पार्टी के लिए शादी नहीं की...नवजोत सिंह सिद्धू के नाम ऑडियो जारी कर कांग्रेस वर्कर ने किया सुसाइड, की यह मांग

हिन्दुस्तान टीम,लुधियानाPublished By: Shankar Pandit
Fri, 30 Jul 2021 11:32 AM
मैंने पार्टी के लिए शादी नहीं की...नवजोत सिंह सिद्धू के नाम ऑडियो जारी कर कांग्रेस वर्कर ने किया सुसाइड, की यह मांग

पंजाब के लुधियाना में एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने खुदकुशी कर ली है। लुधियाना के जंगपुर गांव के एक कांग्रेस कार्यकर्ता ने गुरुवार को कथित तौर पर आत्महत्या कर ली। हालांकि, मरने से पहले उसने कांग्रेस पार्टी के नवनियुक्त पंजाब प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के नाम पर एक ऑडियो जारी किया, जिसमें उसने न्याय की गुहार लगाई है और कुछ लोगों को आत्महत्या का जिम्मेदार बताया है। आत्महत्या करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ता का नाम दलजीत सिंह हैप्पी बताया जा रहा है। फिलहाल, उसकी मौत के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने कहा कि 42 वर्षीय दलजीत सिंह हैप्पी का प्रीतम सिंह नाम के शख्स के साथ एक संपत्ति विवाद था और मामले की जांच लुधियाना ग्रामीण पुलिस द्वारा की जा रही थी। हालांकि, गुरुवार को दलजीत कथित तौर पर नशे की हालत में घर से निकला था और बाद में सोशल मीडिया पर एक ऑडियो क्लिप अपलोड कर अपनी स्थिति के लिए कुछ लोगों को दोषी ठहराया और नवजोत सिंह सिद्धू से न्याय की मांग की। सोशल मीडिया पर ऑडियो क्लिप मिलने के बाद उसका भाई उसकी तलाश में जुट गया। पुलिस ने कहा कि दलजीत पास के बुडेल गांव (रायकोट रोड पर) में बेहोश पड़ा मिला और उसे अस्पताल ले जाया गया, मगर वह बच नहीं सका।

इंडियन एक्स्प्रेस की खबर के मुताबिक, डीएसपी जीएस बैंस ने कहा कि दलजीत अपने बड़े भाई के परिवार के साथ रहता था। उसकी शादी नहीं हुई थी। उसने कथित तौर पर एक जहरीला पदार्थ खा लिया था, जिससे उसकी मौत हो गई। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रीतम सिंह नामके एक शख्स ने दलजीत को तीन महीने के लिए अपना प्लॉट दिया था क्योंकि वह वहां कुछ निर्माण सामग्री रखना चाहता था। हालांकि बाद में दलजीत ने यह दावा करना शुरू कर दिया कि यह उनका प्लॉट है, जिसके बाद प्रीतम ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसकी जांच की जा रही है। बाद में दो अन्य ग्रामीणों- महिंदर सिंह और बलजिंदर सिंह- ने भी प्रीतम के दावे की पुष्टि की, जिससे दलजीत दुखी हो गया था।

नवजोत सिंह सिद्धू को संबोधित करते हुए ऑडियो क्लिप में दलजीत ने कथित तौर पर कहा: "मैं आपको पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए बधाई देता हूं ... लेकिन मेरा अनुरोध है कि आप मेरे जैसे कांग्रेस कार्यकर्ताओं का भी हाथ पकड़ें। मेरा समय खत्म हो गया है लेकिन कृपया मेरे परिवार की मदद करें... मैंने कांग्रेस पार्टी के लिए काम किया है। एक समय था, जब डर के मारे कोई बाहर कांग्रेस के लिए पोस्टर लगाने भी नहीं जाता था, लेकिन हम रात में गांवों में जाकर पोस्टर लगाते थे…फिर मैं यूथ कांग्रेस में शामिल हो गया…मैंने हरियाणा में भी कांग्रेस के लिए काम किया…मुझे एक झूठी एफआईआर में फंसाया जा रहा है...मैंने एक जमीन खरीदा है, मगर जिन्होंने इसे बेचा है, वे अब दावा कर रहे हैं कि यह जमीन उनकी है...मैं अपना जीवन समाप्त कर रहा हूं...मेरे जाने के बाद कृपया मेरे परिवार की मदद करें। मेरी शादी नहीं हुई है। मैंने पार्टी के कामों के कारण शादी नहीं की... मैं हमेशा यात्रा करता रहता था क्योंकि मैंने अपना पूरा जीवन कांग्रेस पार्टी को दे दिया। लेकिन आज इस पार्टी ने मुझे हरा दिया है। मेरी मौत के लिए कुछ अकाली समर्थक जिम्मेदार हैं..मैं उनका नाम ले रहा हूं... प्रीतम सिंह, महिंदर सिंह, बलजिंदर सिंह...इन सभी लोगों ने मेरे खिलाफ झूठे बयान दिए हैं... अगर आपको लगता है कि मैं एक सच्चा कांग्रेस कार्यकर्ता रहा हूं तो कृपया मुझे न्याय दिलाएं। मैं अगले जन्म में फिर से कांग्रेसी बनना चाहता हूं...मैं मरते दम तक पार्टी नहीं छोड़ रहा हूं..."

डीएसपी बैंस ने कहा कि मुल्लांपुर दाखा थाने में प्रीतम सिंह, महिंदर सिंह और बलजिंदर सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। साथ ही महिंदर और बलजिंदर को गिरफ्तार कर लिया गया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ट्वीट कर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि लुधियाना जिले के हमारे पार्टी कार्यकर्ता  हैप्पी ने आत्महत्या कर ली। पंजाब के डीजीपी को तुरंत इसकी जांच करने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि दोषी पाए जाने वाले को बख्शा नहीं जाएगा। 

वहीं, नवजोत सिंह सिद्धू ने कैबिनेट मंत्री भारत भूषण आशु के साथ मृतक के परिवार के घर गए और पंजाब कांग्रेस की ओर से उनके परिवार के लिए 10 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की।

संबंधित खबरें