फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ पंजाबमेडिकल कालेज का शिलान्यास करना चाहते थे सीएम चन्नी, केंद्र ने लगाई फटकार; अब करेंगे पीएम मोदी

मेडिकल कालेज का शिलान्यास करना चाहते थे सीएम चन्नी, केंद्र ने लगाई फटकार; अब करेंगे पीएम मोदी

पंजाब में एक बेहद ही दिलचस्प मामला सामने आया है जहां मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को केंद्र सरकार की फटकार का सामना करना पड़ा है। दरअसल मामला मेडिकल कालेज के शिलान्यास से जुड़ा है। खबर है कि पहले...

मेडिकल कालेज का शिलान्यास करना चाहते थे सीएम चन्नी, केंद्र ने लगाई फटकार; अब करेंगे पीएम मोदी
Amit Kumarलाइव हिन्‍दुस्‍तान,चंडीगढ़Fri, 31 Dec 2021 09:08 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

पंजाब में एक बेहद ही दिलचस्प मामला सामने आया है जहां मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को केंद्र सरकार की फटकार का सामना करना पड़ा है। दरअसल मामला मेडिकल कालेज के शिलान्यास से जुड़ा है। खबर है कि पहले इसका शिलान्यास सीएम चन्नी करने वाले थे लेकिन पीएम मोदी करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 जनवरी को फिरोजपुर में बनने वाले पीजीआई के सेटेलाइट सेंटर का शिलान्यास करेंगे। लेकिन इसके साथ ही वे कपूरथला और होशियारपुर में बनने वाले मेडिकल कालेजों का भी वर्चुअल शिलान्यास करेंगे। 

क्या है पूरा मामला?

दरअसल मामला ये है कि कपूरथला और होशियारपुर में जो मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं उनका शिलान्यास पहले पंजाब के सीएम करने वाले थे। दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक 18 दिसंबर को मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी की ओर से शिलान्यास किए जाने का कार्यक्रम भी प्रस्तावित। लेकिन 17 दिसंबर को ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस पर ऐतराज जताया और इन कार्यक्रमों को रद करने को कहा।

केंद्र ने रिलीज किए पैसे

रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार की सहायता से पंजाब के दो जिला अस्पतालों को मेडिकल कालेज भी बनाने का प्रस्ताव है। इन कॉलेजों के लिए साठ फीसद राशि केंद्र सरकार द्वारा वहन की जाएगी जबकि शेष 40 फीसद रााशि राज्य सरकार देगी। खबर की मानें तो 195 करोड़ रुपये के इन प्रोजेक्टों के लिए केंद्र ने 50-50 करोड़ रुपये दोनों कालेजों के लिए राज्य सरकार को रिलीज कर दिए हैं।

चन्नी करने वाले थे शिल्यान्यास

सीएम चन्नी 18 दिसंबर को इन दोनों कालेजों का शिलान्यास करने वाले थे। इस पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने ऐतराज जताया। मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने पंजाब के मुख्य सचिव अनिरुद्ध तिवारी को पत्र लिखा। इसमें उन्होंने पूछा कि केंद्र सरकार को विश्वास में लिए बगैर ये कार्यक्रम कैसे रखे गए? उन्होंने कहा कि इन्हें रद्द किया जाए। जिसके बाद केंद्र की बात मानते हुए पंजाब राज्य सरकार ने कार्यक्रम रद्द कर दिए। अब पीएम मोदी 5 जनवरी 2022 को इसका शिलान्यास करेंगे। 
 

epaper