फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पंजाबआंदोलनकारी किसानों को मिला ममता बनर्जी का साथ, खनौरी बॉर्डर पहुंचा TMC प्रतिनिधिमंडल; दीदी से कराई बात

आंदोलनकारी किसानों को मिला ममता बनर्जी का साथ, खनौरी बॉर्डर पहुंचा TMC प्रतिनिधिमंडल; दीदी से कराई बात

Punjab News: TMC की राज्यसभा सांसद सागरिका घोष ने कहा कि हम हमेशा से किसानों के साथ थे, हैं और आगे भी रहेंगे। उन्होंने कहा कि हम देश में किसानों का मुद्दा लगातार उठाते रहेंगे।

आंदोलनकारी किसानों को मिला ममता बनर्जी का साथ, खनौरी बॉर्डर पहुंचा TMC प्रतिनिधिमंडल; दीदी से कराई बात
Pramod Kumarमोनी देवी, हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Mon, 10 Jun 2024 10:29 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब के खनौरी बॉर्डर पर पिछले कई महीनों से अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे  पंजाब के किसानों से मिलने सोमवार को तृणमूल कांग्रेस नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल पहुंचा। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी की किसान नेताओं से फोन पर बात भी करवाई। ममता बनर्जी ने प्रदर्शनकारियों को आश्वासन दिया कि तृणमूल कांग्रेस किसानों के न्याय के लिए हमेशा खड़ी रहेगी। पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन, मोहम्मद नदीमुल हक, डोला सेन, सागरिका घोष और साकेत गोखले शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल में शामिल सागरिका घोष ने बाद में सोशल मीडिया एक्स पर एक पोस्ट कर यह जानकारी दी। 

किसानों से माफी मांगे मोदी सरकार : सागरिका घोष
टीएमसी की राज्यसभा सांसद सागरिका घोष का कहना है कि हम किसानों के साथ खड़े हैं। सागारिका ने कहा कि ममता बनर्जी ने हमेशा किसानों के लिए आंदोलन किया है। उन्होंने कहा कि जब पश्चिम बंगाल के सिंगूर में किसानों की जमीन पर अधिग्रहण हुआ था, उस दौरान ममता बनर्जी ने 26 दिनों तक भूख हड़ताल कर अपनी जान की बाजी लगा दी ​थी। जब 2020 में बड़ा किसान आंदोलन चला उस समय तृणमूल कांग्रेस पार्टी ने किसान नेताओं से मुलाकात कर बातचीत की थी। 

राज्यसभा सांसद ने कहा कि हम हमेशा किसान के साथ थे, हैं और आगे भी रहेंगे। ऐसे में हम किसानों का मुद्दा लगातार उठाते रहेंगे। सागरिका घोष ने कहा कि मोदी सरकार झूठ बोलती है, मोदी सरकार झूठे आश्वासन देती है। किसान हमारे देश का अन्नदाता हैं। हम भोजन करने में सक्षम हैं क्योंकि किसान काम करते हैं, वे हमें खाद्यान्न उपलब्ध करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को किसानों से माफी मांगनी चाहिए।

संसद के मॉनसून सत्र में MSP का मुद्दा उठाएगी TMC : किसान नेता
संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) के नेता अभिमन्यु कोहर ने कहा कि टीएमसी प्रतिनिधिमंडल एक घंटे के लिए संगरूर जिले के खनौरी में था। उन्होंने फरवरी में हरियाणा के साथ सीमा बिंदु पर पुलिस के साथ हुई झड़प का जिक्र करते हुए कहा कि वे उस स्थान पर गए, जहां ट्रैक्टर क्षतिग्रस्त हुए थे और शुभकरण सिंह को गोली लगी थी। उन्होंने किसानों से बात की। कोहर ने कहा कि बनर्जी ने किसान नेता जगजीत सिंह दल्लेवाल से बात की। प्रतिनिधिमंडल ने यह भी कहा कि टीएमसी संसद के मानसून सत्र में न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए कानूनी गारंटी का मुद्दा उठाएगी। 

13 फरवरी से शंभू और खनौरी बॉर्डर पर डटे हैं किसान
किसान 13 फरवरी से पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू और खनौरी बॉर्डर पर डटे हुए हैं। 21 फरवरी को खनौरी में सुरक्षा बलों के साथ हुई झड़पों में बठिंडा निवासी 21 साल के किसान शुभकरण सिंह की मौत हो गई थी। संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा किसानों द्वारा दिल्ली कूच का नेतृत्व कर रहे हैं जिससे सरकार पर उनकी मांगों को स्वीकार करने के लिए दबाव बनाया जा सके, जिसमें केंद्र को फसलों के लिए एमएसपी की कानूनी गारंटी देनी चाहिए।