फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पंजाबअंतरराज्यीय नेटवर्क का पर्दाफाश, भारी मात्रा में नशीली दवाएं बरामद; 7 तस्कर गिरफ्तार

अंतरराज्यीय नेटवर्क का पर्दाफाश, भारी मात्रा में नशीली दवाएं बरामद; 7 तस्कर गिरफ्तार

यह ऑपरेशन स्पेशल टास्क फोर्स, बॉर्डर रेंज अमृतसर की ओर से तरनतारन के गांव कोट मोहम्मद खान के सुखविंदर सिंह और अमृतसर में गोविंद नगर के जसप्रीत सिंह नामक 2 ड्रग तस्करों के खिलाफ हुआ।

अंतरराज्यीय नेटवर्क का पर्दाफाश, भारी मात्रा में नशीली दवाएं बरामद; 7 तस्कर गिरफ्तार
Niteesh Kumarमोनी देवी, लाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Sat, 11 May 2024 05:12 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने हिमाचल प्रदेश से ऑपरेट रहे अंतरराज्यीय नशा तस्करों के गिरोह का भंडाफोड़ किया है। एसटीएफ ने हिमाचल प्रदेश के बद्दी में एक फार्मा फैक्टरी से चल रहे साइकोट्रोपिक पदार्थ निर्माण और सप्लाई यूनिटों के अंतरराज्यीय अवैध नेटवर्क का भंडाफोड़ किया। यह जानकारी पंजाब के पुलिस डीजीपी गौरव यादव ने दी। गौरव यादव ने कहा कि 5 राज्यों में चलाए गए इस पूरे ऑपरेशन के दौरान पुलिस ने कुल 7 नशा तस्करों, सप्लायर्स को गिरफ्तार किया है। इस दौरान 70.42 लाख नशीली गोलियां, कैप्सूल, 2.37 लाख रुपए की ड्रग मनी और 725.5 किलोग्राम ड्रग ट्रामाडोल पाउडर बरामद किया है। इन 5 राज्यों में पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र शामिल हैं।

यह ऑपरेशन स्पेशल टास्क फोर्स, बॉर्डर रेंज अमृतसर की ओर से तरनतारन के गांव कोट मोहम्मद खान के सुखविंदर सिंह और अमृतसर के गोविंद नगर के जसप्रीत सिंह नामक 2 ड्रग तस्करों के खिलाफ हुआ। इनके आगे-पीछे के संबंधों की 3 महीने की जांच के बाद इसे चलाया गया। गौरतलब है कि इन तस्करों को इसी साल फरवरी में ब्यास से 4.24 लाख नशीली गोलियों, कैप्सूल और 1 लाख रुपये ड्रग मनी के साथ गिरफ्तार किया गया था। इनकी गिरफ्तारी के बाद एसपी एसटीएफ विशालजीत सिंह और डीएसपी एसटीएफ वविंदर कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीमों ने इस रैकेट के मुख्य सरगना एलेक्स पालीवाल को सहारनपुर में ट्रेस करके गिरफ्तार कर लिया है। इनके कब्जे से 9.04 लाख नशीली गोलियां, कैप्सूल और 1.37 लाख रुपए की ड्रग मनी बरामद की गई है।

200 मिलियन से अधिक अल्प्राजोलम टैबलेट बना डाली
सरगना एलेक्स पालीवाल के खुलासे के बाद हिमाचल प्रदेश में कार्रवाई करते हुए ड्रग कंट्रोल ऑफिसर सुखदीप सिंह और रमनीक सिंह की मौजूदगी में पुलिस टीमों ने बायोजेनेटिक ड्रग प्राइवेट लिमिटेड की जांच की और रिकॉर्ड जब्त कर लिया। इन रिकॉर्ड्स से पता चला कि कंपनी ने केवल 8 महीनों में 200 मिलियन से अधिक अल्प्राजोलम टैबलेट का निर्माण किया। रिकॉर्ड में महाराष्ट्र की मेसर्स एस्टर फार्मा को सप्लाई की बात भी सामने आई। इस संबंध में आगे की जांच में बद्दी स्थित बायोजेनेटिक ड्रग प्राइवेट लिमिटेड की दूसरी फार्मा निर्माता कंपनी स्माइलेक्स फार्मा केम ड्रग इंडस्ट्रीज का खुलासा हुआ। 

स्माइलेक्स फार्मा कैम ड्रग इंडस्ट्रीज के खिलाफ ऑपरेशन के दौरान 47.32 ड्रग कैप्सूल और 725.5 किलोग्राम नशीला ट्रामाडोल पाउडर जोकि 1.5 करोड़ कैप्सूल बनाने के लिए काफी था... बरामद किया गया। रिकॉर्ड्स से पता चला कि स्माइलेक्स फार्मा केम ड्रग इंडस्ट्रीज ने एक साल के भीतर 6500 किलोग्राम नशीले ट्रामाडोल पाउडर खरीदा था। इस बीच नशीले पदार्थों के ट्रांसपोर्टेशन और वितरण की जांच करते हुए नशीले पदार्थों की तस्करी के अंतरराज्यीय नेटवर्क की जांच करते हुए 4 अन्य सप्लायर्स को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान इंतिजार सलमानी, प्रिंस सलमानी, बलजिंदर सिंह और सूबा सिंह के रूप में हुई। पुलिस टीमों ने चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन के पास एक ट्रांसपोर्टेशन वाहन से 9.80 लाख नशीली गोलियों व कैप्सूल की खेप बरामद की।