फोटो गैलरी

Hindi News पंजाबकिसान आंदोलनः खनौरी बॉर्डर पर एक और किसान की मौत, अब तक 8 की जा चुकी है जान

किसान आंदोलनः खनौरी बॉर्डर पर एक और किसान की मौत, अब तक 8 की जा चुकी है जान

किसान आंदोलन के दौरान अब तक 8 किसानों की जान जा चुकी है। सोमवार को खनौरी बॉर्डर पर 62 साल के एक किसान की मौत हो गई। उन्हें सांस लेने में तकलीफ थी।

किसान आंदोलनः खनौरी बॉर्डर पर एक और किसान की मौत, अब तक 8 की जा चुकी है जान
Ankit Ojhaमोनी देवी, लाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Tue, 27 Feb 2024 01:36 PM
ऐप पर पढ़ें

किसान आंदोलन के दौरान खनौरी बॉर्डर पर एक और किसान की मौत हो गई है। मरने वाले किसान की पहचान 62 वर्षीय करनैल सिंह  के रूप में हुई है। पटियाला जिले के अरनो निवासी किसान करनैल सिंह की मंगलवार सुबह तीन बजे मौत हो गई। करनैल सिंह को सांस लेने में परेशानी थी और उन्हें पटियाला के राजेंद्र हॉस्पिटल में दाखिल करवाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। करनैल सिंह 13 फरवरी से खनौरी बॉर्डर पर डटा हुआ था। आंदोलन के दौरान ये 8वीं मौत है। 

अस्थाई तौर पर खोले बॉर्डर
हरियाणा और दिल्ली बॉर्डर सिंधु और टिकरी को भी दिल्ली पुलिस ने अस्थाई तौर पर खोल दिया है। दिल्ली से चंडीगढ़ जाने के लिए कुरुक्षेत्र में जम्मू-दिल्ली एनएच की सर्विस लेन को हरियाणा पुलिस ने खोल दिया है। यहां पर किसानों के मार्च को रोकने के लिए सीमेंट की बैरिकेडिंग की गई थी। 

दिल्ली कूच पर बैठक आज, फैसला कल
पंजाब के किसान अब भी पंजाब-हरियाणा के शंभू और खनौरी बॉर्डर पर मौजूद हैं। मंगलवार को उनके आंदोलन का 15वां दिन है। उन्होंने दिल्ली कूच को 29 फरवरी तक के लिए टाल दिया है। आज किसान मजदूर मोर्चा और संयुक्त किसान मोर्चा (गैर राजनीतिक) की बैठकें हो सकती हैं। इन बैठकों में दिल्ली मार्च पर विचार-विमर्श हो सकता है। 28 फरवरी को अंतिम फैसला  लिया जाएगा। 

बता दें कि बीते एक सप्ताह से किसान पंजाब और हरियाणा के बॉर्डर पर राशन पानी के साथ डटे हैं। उनकी कुल 12 मांगें हैं जिनपर कुछ को लेकर सरकार के साथ सहमति बन गई है। वहीं कुछ मांगों पर अब भी बात नहीं बन पाई है। किसानों का कहना है कि वे राशन पानी साथ लेकर आए हैं और इसलिए बिना अपनी बाद मनवाए वापस नहीं लौटेंगे। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें