फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पंजाबजेल से बाहर आएंगे साधु सिंह धर्मसोत, हाई कोर्ट से राहत; केजरीवाल की तर्ज पर मांगी थी जमानत

जेल से बाहर आएंगे साधु सिंह धर्मसोत, हाई कोर्ट से राहत; केजरीवाल की तर्ज पर मांगी थी जमानत

2017 में साधु सिंह धर्मसोत विधानसभा चुनाव जीते लेकिन 2022 में हार गए। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार आते ही विजिलेंस ने वन घोटाले की जांच की थी जिसके बाद उनके खिलाफ FIR दर्ज की गई थी।

जेल से बाहर आएंगे साधु सिंह धर्मसोत, हाई कोर्ट से राहत; केजरीवाल की तर्ज पर मांगी थी जमानत
Niteesh Kumarमोनी देवी, लाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Tue, 14 May 2024 11:49 PM
ऐप पर पढ़ें

जेल में बंद कांग्रेस सरकार में वन मंत्री रहे साधु सिंह धर्मसोत को अंतरिम जमानत मिल गई है। पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने करोड़ों के वन घोटाले और बेनामी संपत्तियां जुटाने के मामले में आज यह फैसला सुनाया। साधु को 5 जून तक जमानत दी गई है। भ्रष्टाचार से जुड़े मामले में उन्हें 6 जून को फिर से सरेंडर करना होगा। लोकसभा चुनाव से पहले कोर्ट ने उन्हें ये राहत दी और वह चुनाव प्रचार भी कर सकेंगे। साधू सिंह धर्मसोत की ओर से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मिली जमानत का हवाला देते हुए कोर्ट से उन्हें भी जमानत देने की मांग की, जिसे कोर्ट ने स्वीकार करते हुए 5 जून तक सशर्त जमानत दे दी। 

साल 2017 में धर्मसोत विधानसभा चुनाव जीते थे लेकिन वर्ष 2022 में वह चुनाव हार गए थे। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार आते ही विजिलेंस ने वन घोटाले की जांच की थी जिसके बाद धर्मसोत के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। भ्रष्टाचार और बेनामी संपत्तियों को लेकर उन्हें जांच के लिए ईडी ने 16 जनवरी को गिरफ्तार किया था। उन्हें सशर्त जमानत मिली है, जिसमें उन्हें हिदायतें दी गई है कि वह गवाहों से न तो मुलाकात करेंगे न ही संपर्क, बिना सूचना दिए राज्य व देश से बाहर नहीं जाएंगे। जमानत के लिए उन्हें 50 हजार रुपये का मुचलका भी भरना होगा।

6 जनवरी 2024 को ईडी ने किया था गिरफ्तार
एक मार्च, 2016 से 31 मार्च, 2022 तक धर्मसोत वन मंत्री रहे थे। इस दौरान उनकी आय 2.37 करोड़ रुपये थी, जबकि उनकी तरफ से 8.76 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे। ईडी ने 16 जनवरी 2024 को जालंधर में उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले पर प्रवर्तन निदेशालय ने कहा कि पूर्व मंत्री और उनके बेटों की आय, बताए गए सोर्स से मेल नहीं खाती है, जिसके चलते उनके खिलाफ ये कार्रवाई की गई। पंजाब विजिलेंस भी वन घोटाले की जांच कर रही है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें