फोटो गैलरी

Hindi News पंजाबविवादों में घिरी मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना, हाई कोर्ट ने पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

विवादों में घिरी मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना, हाई कोर्ट ने पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

बेंच ने राज्य सरकार से कहा कि वह सुनवाई की अगली तारीख से पहले एक हलफनामा दायर करके यह बताए कि राज्य सरकार को कितने लोगों से ऐसी तीर्थ यात्रा योजना शुरू करने की मांग मिली है।

विवादों में घिरी मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना, हाई कोर्ट ने पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर मांगा जवाब
Madan Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,चंडीगढ़Sat, 02 Dec 2023 02:42 PM
ऐप पर पढ़ें

पंजाब में हाल ही में शुरू हुई मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना को पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट में चुनौती दी गई है। हाईकोर्ट ने पंजाब सरकार को 12 दिसंबर के लिए नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। हाईकोर्ट ने सरकार से पूछा है कि क्यों न इस योजना पर रोक लगा दी जाए। होशियारपुर निवासी परविंदर सिंह किताना ने योजना को चुनौती देते हुए दायर याचिका में कहा कि यह योजना जनता के पैसे का दुरुपयोग है और इससे प्रदेश का कोई भला नहीं हो रहा है।

यह करदाताओं के पैसे की बर्बादी
हाई कोर्ट की कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश रितु बाहरी और न्यायाधीश निधि गुप्ता की पीठ ने दायर जनहित याचिका में पंजाब सरकार को 12 दिसंबर के लिए नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है। याचिकाकर्ता ने उपरोक्त योजना को इस आधार पर चुनौती दी थी कि यह करदाताओं के पैसे की भारी बर्बादी है और इससे कोई विकास या कल्याण नहीं होगा।

हाईकोर्ट की नोटिस के बाद लिया था वापस
सुनवाई के दौरान बेंच ने राज्य सरकार से कहा कि वह सुनवाई की अगली तारीख से पहले एक हलफनामा दायर करके यह बताए कि राज्य सरकार को कितने लोगों से ऐसी तीर्थ यात्रा योजना शुरू करने की मांग मिली है। खंडपीठ ने राज्य सरकार को राज्य के खर्च पर मुफ्त तीर्थ यात्रा योजना का औचित्य बताने का भी निर्देश दिया, जबकि राज्य में युवा नौकरियों और रोजगार के लिए लड़ रहे हैं। हाई कोर्ट बेंच ने राज्य सरकार को यह बताने का भी निर्देश दिया कि इस तीर्थ यात्रा योजना को फिर से क्यों शुरू किया गया है, जबकि पंजाब राज्य द्वारा वर्ष 2017 में शुरू की गई इसी तरह की योजना को राज्य सरकार ने हाईकोर्ट के नोटिस के बाद वापस ले लिया था। हाई कोर्ट ने यह स्पष्ट कर दिया कि राज्य सरकार अगली सुनवाई से पहले मामले में उचित हलफनामा दायर करेगी, जिसमें बताया जाएगा कि मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना क्यों बंद नहीं की जा सकती है।

गुरुपर्व पर हुई थी शुरुआत
पंजाब सरकार ने 27 नवंबर को गुरुपर्व के अवसर पर 'मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना' की शुरुआत की थी। इसके तहत पंजाब के आर्थिक रूप से कमजोर 60 साल से अधिक उम्र के बुजुर्गों को देश भर के तीर्थ स्थानों की मुफ्त यात्रा कराई जाएगी। यात्रा में जाने वाले लोगों को एसी धर्मशालाओं में ठहराया जाएगा। खाना व श्रद्धालु किट भी मुहैया करवाई जाएगी। यह यात्रा सरकार की तरफ से बिल्कुल फ्री में करवाई जा रही है। इस यात्रा का 50 हजार से अधिक लोग फायदा उठाएंगे। यात्रियों के खाने की व्यवस्था भी होगी।

रिपोर्ट: मोनी देवी

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें