फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News पंजाबसिद्धू के चलते नहीं छोड़ूंगा... कैप्टन अमरिंदर सिंह का पटियाला से चुनाव लड़ने का ऐलान

सिद्धू के चलते नहीं छोड़ूंगा... कैप्टन अमरिंदर सिंह का पटियाला से चुनाव लड़ने का ऐलान

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने गढ़ पटियाला से ही विधानसभा चुनाव में उतरेंगे। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने फेसबुक पेज पर भी इसकी जानकारी दी है। कैप्टन ने लिखा, 'मैं पटियाला से...

सिद्धू के चलते नहीं छोड़ूंगा... कैप्टन अमरिंदर सिंह का पटियाला से चुनाव लड़ने का ऐलान
लाइव हिन्दुस्तान ,चंडीगढ़Sun, 21 Nov 2021 06:00 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने गढ़ पटियाला से ही विधानसभा चुनाव में उतरेंगे। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने फेसबुक पेज पर भी इसकी जानकारी दी है। कैप्टन ने लिखा, 'मैं पटियाला से चुनाव लड़ूंगा। बीते 400 सालों से पटियाला हमारे साथ रहा है और मैं इसे सिद्धू की वजह से छोड़ने वाला नहीं हूं।' पटियाला हमेशा से ही कैप्टन फैमिली का गढ़ रहा है। वह खुद इस सीट से 4 बार चुनाव जीत चुके हैं।

इसके अलावा उनकी पत्नी परनीत कौर भी यहीं से 2017 का चुनाव जीती थीं। इसी साल अप्रैल में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को पटियाला से समर में उतरने की चुनौती दी थी। उसके बाद से ही दोनों नेताओं के बीच रार बढ़ती चली गई और अंत में कैप्टन अमरिंदर सिंह को सीएम पद से ही इस्तीफा देना पड़ा। पद से इस्तीफे के बाद भी कैप्टन अमरिंदर सिंह कई बार नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधा चुके हैं। एक बार फिर से उन्होंने पटियाला से चुनाव लड़ने का ऐलान करते हुए सिद्धू पर हमला बोला है। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह के चुनाव लड़ने के ऐलान के साथ ही पंजाब में सियासी माहौल गर्मा गया है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सीएम पद से इस्तीफा देने के साथ ही कांग्रेस का भी साथ छोड़ दिया है और अपनी नई पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का गठन कर दिया है। यही नहीं भाजपा के साथ मिलकर काम करने की बात कहकर उन्होंने भगवा दल के साथ जाने के भी संकेत दिए हैं। राज्य में कैप्टन अमरिंदर सिंह की एंट्री से राज्य के चुनाव में एक तरह से चौथा मोर्चा उभर गया है। प्रदेश की राजनीति में अब तक दो ही मोर्चे अकाली दल और कांग्रेस ही हुआ करते थे। लेकिन बीते चुनाव में आम आदमी पार्टी की एंट्री से तीन प्लेयर हो गए थे। अब कैप्टन अमरिंदर सिंह और भाजपा के गठजोड़ से चौथा मोर्चा भी बनने के संकेत मिल रहे हैं।