फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ पंजाबपंजाब में करारी हार के बाद अकाली दल में दो फाड़, DSGMC चीफ ने किया अलग पार्टी बनाने का ऐलान

पंजाब में करारी हार के बाद अकाली दल में दो फाड़, DSGMC चीफ ने किया अलग पार्टी बनाने का ऐलान

पंजाब में करारी हार के बाद शिरोमणि अकाली दल में भी दरार की खबरें सामने आ रही हैं। पार्टी के सीनियर नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमिटी के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका ने एक अलग अकाली दल बनाने...

पंजाब में करारी हार के बाद अकाली दल में दो फाड़, DSGMC चीफ ने किया अलग पार्टी बनाने का ऐलान
Ankit Ojhaलाइव हिंदुस्तान,चंडीगढ़Thu, 17 Mar 2022 10:02 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/

पंजाब में करारी हार के बाद शिरोमणि अकाली दल में भी दरार की खबरें सामने आ रही हैं। पार्टी के सीनियर नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमिटी के अध्यक्ष हरमीत सिंह कालका ने एक अलग अकाली दल बनाने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने कहा कि 26 अन्य सदस्यों के साथ यह फैसला किया गया है। पार्टी ने 47 में से 27 सदस्यों के साथ DSGMC का चुनाव जीता था। 

कालका के इस ऐलान के बाद SAD ने एक बैठक बुलाई और उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया। इसके अलावा पार्टी की दिल्ली यूनिट का विलय करवा दिया गया है। अकाली दल के उपाध्यक्ष प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने कहा कि तब तक पूर्व अध्यक्ष अवतार सिंह इस यूनिट की कमान संभालेंगे।


पंजाब में बठिंडा शहर से अकाली दल के उम्मीदवार और पूर्व विधायक सरूप सिंह सिंहला ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने बादल परिवार पर आरोप लगाया कि उन्होंने अपने चचेरे भाई और कांग्रेस नेता मनप्रीत सिंह बादल का सहयोग किया इसलिए वह चुनाव हार गए। बता दें कि यहां आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी ने चुनाव जीता है।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमिटी के दो अकाली नेता भी पार्टी में विद्रोह कर चुके हैं। बलदेव सिंह चुंगा और किरनजोत कौर ने बादल परिवार का विरोध किया। उन्होंने आरोप लगाया कि बादल परिवार की गलत नीतियों की वजह से अकाली दल का यह हाल हुआ है। बादल परिवार सिख पंथ को छोड़कर डेरा की शरण में पहुंच गया।

epaper