DA Image

अगली फोटो

बरेली आने वालों पहले इन मोहल्लों और सड़कों का जान लें हाल, ये पांच फोटो बताएंगी यहां की हकीकत

हिन्दुस्तान संवाद, बरेली
बजबजाती नालियां, चोक हुए नाले और जलभराव ने नगर निगम के दावों की पोल खोल दी है। जिन नालों पर करीब 42 लाख रुपये खर्च कर सफाई अभियान चलाया गया, उन्हीं इलाकों में हल्की बारिश ने जलभराव के तेवर दिखाए हैं।
जगतपुर गौटिया से लेकर संजय नगर और सुभाषनगर जैसे इलाकों की स्थिति बारिश में सबसे ज्यादा बिगड़ी हुई है। नाले साफ होने के बाद भी जस के तस दिखाई दे रहे हैं। इतना ही नहीं शहर की मुख्य सड़का पर भी पानी भरा है।
शहर के इलाके तो बाद की बात है नगर निगम कैंपस में भी जलभराव हो गया। सरकारी दफ्तरों से लेकर आवासों में भी पानी भर गया। छोटे-बड़े नाले चोक होने से जल निकासी नहीं हो पाई।
सुभाषनगर, राजीव नगर, शांति नगर, संजय नगर, जगतपुर गौठिया जैसे इलाकों में बारिश से जलभराव का संकट बना है। क्षेत्रवासियों को अब नगर निगम अफसरों पर अब कोई भरोसा नहीं है। लोगों ने मकान और दुकानें ऊंची करानी शुरू कर दीं हैं।
नगर निगम आफिस के ठीक सामने 16 लाख की लागत से नाला निर्माण हुआ था। नाले की हर सप्ताह सफाई भी करने का दावा निगम करता है मगर हर दूसरे दिन नाले में गंदगी और कूड़े के ढेर नजर आए। संजय नगर, जगतपुर, सिविल लाइंस जैसे नालों की सफाई के लिए अभियान चलाया गया। बारिश हुई तो नाला सफाई का सिस्टम फेल हो गया।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Rain water filled with streets in Bareilly