DA Image
17 जनवरी, 2020|9:49|IST

अगली फोटो

बुलंदशहर हिंसा : तस्वीरों में देखें उत्पातियों ने कैसे किया बवाल

प्रमुख संवाददाता, राज्य मुख्यालय
inspector subodh kumar singh killed in bulandshahar
उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर में गौकशी की घटना के बाद भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह और ग्रामीण की मौत के मामले की जांच के लिए एडीजी इंटेलीजेंस एसबी शिरडकर को भेजा गया है। उनसे 48 घंटे में अपनी गोपनीय जांच रिपोर्ट देने को कहा गया है।
bulandshahar
पूरे मामले और इस संबंध में दर्ज होने वाले मुकदमों की गहन जांच के लिए आईजी रेंज मेरठ रामकुमार की अध्यक्षता में एक चार सदस्यीय एसआईटी भी गठित की गई है। एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने यह जानकारी दी।
inspector killed in bulandshahar
डीजीपी मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने बताया कि घटना में सीओ समेत पांच पुलिस कर्मी घायल भी हुए हैं। घटना के कारण तनाव को देखते हुए पर्याप्त पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। (गोली लगने के बाद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह गाड़ी से नीचे गिर गए थे।)
bulandshahar
बुलंदशहर में तब्लीगी इज्तमा के कारण 5 कंपनी आरएएफ व 6 कंपनी पीएसी पहले से जिले में तैनात हैं। इस तीन दिवसीय आयोजन का सोमवार को आखिरी दिन था। इसमें एक समुदाय विशेष के करीब 15 लाख शामिल हुए। (तस्वीर: भीड़ की हिंसा में एक प्रदर्शनकारी युवक की भी मौत हो गई, इनसेट में युवक)
bulandshahar
इस आयोजन के कारण आईजी रेंज मेरठ रामकुमार भी पहले से ही बुलंदशहर में थे। घटना की सूचना मिलते ही डीएम अनुज कुमार झा व एसएसपी केबी सिंह के अलावा वह भी पहुंचे।
bulandshahar
एडीजी जोन मेरठ प्रशांत कुमार भी घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि गौवंश के अवशेष खेतों से उठाकर ट्राली में रखने और उसे चिंगरावठी पुलिस चौकी के पास लाकर रास्ता जाम करने वालों की भीड़ में तीन गांवों महाव, नया बांस व चिंगरावठी के लोग शामिल थे।
bulandshahar
खेतों में गौवंश के अवशेष होने की सूचना पूर्व प्रधान ने पुलिस को दी। इसी सूचना पर इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह अपने हमराहियों के साथ चिंगरावठी गांव पहुंचे थे।
bulandshahar
गौवंश काटे जाने के मामले में कठोर कार्रवाई करने का आश्वासन देकर उन्होंने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मना लिया था लेकिन कुछ अराजक तत्वों ने खेतों से गौवंश के अवशेष उठा लिया और उसे लेकर रास्ते पर जाम लगा दिया।
bulandshahar
पुलिस चौकी पर पथराव के अलावा ग्रामीण कट्टे से फायरिंग भी कर रहे थे। इस दौरान बड़ी संख्या में वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई। पुलिस चौकी के सामने बवाल की घटना दोपहर 12 बजे से 1.30 के बीच हुई।
bulandshahar
शाम तक इलाके में भारी फोर्स तैनात कर दी गई। आला पुलिस अधिकारियों ने आतताइयों को आगाह किया है दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ रासुका तहत कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Bulandshahr Violence in pictures: See how the protesters abandoned vehicles and attacked on police