DA Image

अगली फोटो

11 दिनों में 1.44 लाख श्रद्धालुओं ने की अमरनाथ यात्रा, देखें तस्वीरें

लाइव हिन्दुस्तान
hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
अमरनाथ यात्रा के लिए शुक्रवार को जम्मू से 5,395 श्रद्धालुओं का एक और जत्था रवाना हुआ। इस साल एक जुलाई से यात्रा शुरू होने के बाद से अब तक 1.44 लाख से अधिक श्रद्धालु समुद्र तल से 3,888 मीटर ऊपर स्थित बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं। (ANI-Photo)
hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
अधिकारियों ने कहा कि 1 जुलाई को यात्रा शुरू होने के बाद से अब तक 11 दिनों में 1,44,058 श्रद्धालुओं ने पवित्र शिवलिंग के दर्शन कर लिए हैं। पुलिस ने आज यहां कहा कि 5,395 यत्रियों का एक और जत्था आज सुबह भगवती नगर यात्री निवास से घाटी के लिए दो सुरक्षा काफिले में रवाना हुआ। (ANI-Photo)
 hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
पुलिस ने आगे बताया, “इनमें से 1,966 यात्री बालटाल आधार शिविर जा रहे हैं, जबकि 3,429 यात्री पहलगाम आधार शिविर जा रहे हैं।” श्रद्धालुओं के अनुसार, अमरनाथ गुफा में बर्फ की विशाल संरचना बनती है जो भगवान शिव की पौराणिक शक्तियों की प्रतीक है। (ANI-Photo)
hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
तीर्थयात्री पवित्र गुफा तक जाने के लिए या तो अपेक्षाकृत छोटे 14 किलोमीटर लंबे बालटाल मार्ग से जाते हैं या 45 किलोमीटर लंबे पहलगाम मार्ग से जाते हैं। (PTI-Photo)
hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
दोनों आधार शिविरों पर हालांकि तीर्थ यात्रियों के लिए हैलीकॉप्टर की सेवाएं हैं। बर्फ की आकृति चंद्रमा की गति के साथ-साथ अपनी संरचना बदलती है। स्थानीय मुस्लिमों ने भी हिंदू तीर्थयात्रियों की सुविधा और आसानी से यात्रा सुनिश्चित कराने के लिए बढ़-चढ़कर सहायता की है। (PTI-Photo)
hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
इसे स्वीकार करते हुए प्रदेश के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि अमरनाथ यात्रा को शांतिपूर्ण तरीके से पूरी करना सिर्फ स्थानीय मुस्लिमों की सक्रियता के कारण ही संभव हुआ है। (PTI-Photo)
hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
पवित्र गुफा की खोज सन 1850 में एक मुस्लिम चरवाहा बूटा मलिक ने की थी। किवदंतियों के अनुसार, एक सूफी संत ने चरवाहे को कोयले से भरा एक बैग दिया था, बाद में कोयला सोने में बदल गया था। (ANI-Photo)
hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of lord shiva in amarnath
लगभग 150 सालों से चरवाहे के वंशजों को पवित्र गुफा पर आने वाले चढ़ावे का कुछ भाग दिया जाता है। इस साल 45 दिवसीय अमरनाथ यात्रा का समापन 15 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा के साथ होगा। (REUTERS-Photo)
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Hindu pilgrims arrive to worship at the holy cave of Lord Shiva in Amarnath