Flood waters following heavy monsoon rainfall in Madhya Pradesh - PHOTOS: मध्यप्रदेश में बाढ़ का कहर, अभी राहत की उम्मीद नहीं 1 DA Image

अगली फोटो

PHOTOS: मध्यप्रदेश में बाढ़ का कहर, अभी राहत की उम्मीद नहीं

लाइव हिन्दुस्तान
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
मध्यप्रदेश में बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित नीमच और मंदसौर जिलों को भारी बारिश से आज भी राहत की उम्मीद नहीं है। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
स्थानीय मौसम केंद्र के मुताबिक आज अलीराजपुर, आगर-मालवा, मंदसौर एवं नीमच जिलों में अतिभारी वर्षा तथा उज्जैन, इंदौर, देवास, शाजापुर, रतलाम, झाबुआ, श्योपुर, खरगोन, बड़वानी एवं राजगढ़ जिलों में कहीं कहीं भारी बारिश होने की आशंका है। राजधानी भोपाल में गरज चमक के साथ बारिश की बौछारें पड़ सकती हैं। (PTI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
इसी बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्देश पर वर्षा प्रभावित जिलों के जान-माल की रक्षा और बचाव के काम युद्धस्तर पर तेज कर दिए गए हैं। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
आधिकारिक जानकारी के अनुसार जिला प्रशासन ने चौबीसों घंटे मुस्तैद रहते हुए आपदा से निपटने की पूरी तैयारी कर ली है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव राजस्व एवं संबंधित जिले के कलेक्टर से सतत संपर्क रखकर बाढ़ की स्थिति की जानकारी ली और उन्होंने आवश्यक निर्देश दिए। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
मुख्यमंत्री के निर्देश पर वर्षा से प्रभावित 36 जिलों में बचाव और राहत के काम तत्काल शुरु किए गए हैं। राज्य आपदा मोचक बल (एसडीआरएफ) और राष्ट्रीय आपदा मोचक बल (एनडीआरएफ) के साथ स्थानीय जिला प्रशासन को सक्रिय किया गया है। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
प्रभावित क्षेत्र में 255 जिला आपदा रिस्पॉन्स सेंटर और 51 आपात ऑपरेशन सेंटर खोले गए जो 24 घंटे काम कर रहे हैं। एसडीआरएफ के 100 और 600 प्रशिक्षित होमगार्ड के जवान बचाव कार्य में लगाये गए हैं। एनडीआरएफ के 210 तथा 1500 हजार होमगार्ड और पुलिस के जवान राहत और बचाव कार्यों में तैनात किए गए हैं। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
दूसरी ओर नीमच और मंदसौर में बहुत तेज बारिश और गांधीसागर बांध से पानी की निकासी के कारण कई स्थानों पर लगातार बाढ़ के हालात कायम हैं। गांधीसागर बांध के सभी 19 गेट खोलकर दो दिन से पानी की निकासी शुरु की गई थी। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
यह अतिरिक्त पानी राजस्थान में रावतभाटा स्थित राणाप्रताप सागर, बूंदी जिले में जवाहरसागर तथा कोटा में कोटा बेराज से होते हुए चंबल नदी में छोड़ा जा रहा है। चंबल नदी उफनती हुई वापस मध्यप्रदेश के मुरैना और भिंड से गुजरती हुई उत्तरप्रदेश के इटावा होते हुए यमुना नदी में मिलती है। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
इसी के चलते चंबल नदी की बाढ़ के कारण राज्य के भिंड और मुरैना में भी लगातार बाढ़ के हालात बने हुए हैं। मुरैना में चंबल नदी खतरे के निशान से करीब ढ़ाई मीटर ऊपर बह रही है। जिले के पांच गांवों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। करीब 60 गांवों में अलर्ट घोषित किया गया है। (ANI Photo)
flood waters following heavy monsoon rainfall in madhya pradesh
राजस्थान की सीमा से सटे श्योपुर जिले में भी चंबल, पार्वती और कालीसिंध नदी में उफान से श्योपुर का राजस्थान के कोटा एवं सवाईमाधोपुर का सड़क मार्ग अवरुद्ध है। श्योपुर एवं कोटा के बीच पार्वती नदी का पानी पुल से करीब 23 फीट ऊपर बह रहा है। (ANI Photo)
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Flood waters following heavy monsoon rainfall in Madhya Pradesh