DA Image

अगली फोटो

Delhi Flood Alert: यमुना उफान पर, दिल्ली पर 40 साल की सबसे बड़ी बाढ़ का खतरा

लाइव हिन्दुस्तान
delhi on flood alert after 40 years
यमुना का जलस्तर बढ़ने से आबादी में पानी घुसने लगा है। जिसके चलते दिल्ली सीमा से सटे कई इलाकों में लोगों को अपना घर छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर जाना पड़ रहा है। फरीदाबाद की बसन्तपुर कालोनी के कई लोगों ने अरने धक खाली करने शुरू कर दिए है। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
प्रशासन की मुनादी के बाद यहां लोग सोमवार रात भर अपना घर खाली करने में लगे रहे। स्थानीय निवासी यासीन ने बताया कि कालोनी से काफी लोग अपना घर छोड़ चुके है। फिलहाल किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है। समय रहते प्रशासन ने लोगों को अलर्ट कर दिया था। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
गौरतलब है कि दिल्ली के बाद फरीदाबाद में सबसे पहले इसी कॉलोनी में पानी आएगा। यह यमुना के किनारे बसी है। इसमें करीब 20 हजार लोग रह रहे हैं। सोमवार की शाम यमुना खतरे के निशान के ऊपर पहुंच चुकी थी, जो कि अब भी जारी है। हथिनीकुंड बैराज से छोड़े गए पानी की वजह से दिल्ली में 4 दशक की सबसे बड़ी बाढ़ का खतरा बताया जा रहा है। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अधिकारियों के साथ बैठक के बाद यमुना के किनारे रह रहे 24 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने का निर्देश जारी किया था। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए दिल्ली सरकार ने 2100 से ज्यादा अस्थायी टेंटों की व्यवस्था की है। एहतियातन पुराने लोहे के पुल को आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया है। केंद्रीय जल आयोग ने कहा है कि दिल्ली में बाढ़ का सबसे ज्यादा खतरा मंगलवार रात से लेकर बुधवार सुबह तक है। इसे लेकर सभी संबंधित विभाग अलर्ट पर हैं। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
पुरानी दिल्ली की बात करें तो यहां सोमवार को रेलवे ब्रिज पर जल स्तर 205.20 मीटर पर था। यह खतरे के निशान के काफी करीब था। खतरे का निशान 205.33 मीटर पर है। जल आयोग के मुताबिक आज मंगलवार की रात तक इसके खतरे के निशान से ऊपर जाने की आशंका है। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
हथिनी कुंड बैराज से अधिक मात्रा में पानी छोड़े जाने से बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। अगले दो दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। सरकार ने सभी जरूरी उपाय कर लिए है। बचाव तल को अलर्ट कर दिया गया है। सभी विभागों को भी अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। यमुना तटबंध में रह रहे लोगों को खाली कराया जा रहा है। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
यमुना का जलस्तर बढ़ता देख दिल्ली सरकार ने सभी संबंधित विभागों को मुस्तैद रहने को कहा है। तमाम विभागों को अलर्ट पर रखा गया है। आपातकालीन बैठकों में बाढ़ व सिंचाई विभाग सहित सरकारी एजेंसियों को सतर्क रहने और पानी की स्थिति पर नजर बनाए रखने का निरंतर निर्देश दिया जा रहा है। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
दिल्ली पुलिस और नागरिक सुरक्षा स्वयंसेवकों को लोगों की मदद के लिए खड़े रहने का निर्देश जारी किया गया है। तेजी से अभियान चलाकर लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है। (Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
सरकार को सबसे बड़ी चिंता इस बात की है कि रविवार को हथिनीकुंड बैराज से छोड़ा गया करीब 21 लाख क्यूसेक पानी 72 घंटे में दिल्ली तक आ जाएगा। इतनी बड़ी मात्रा में नदी में पानी आने से यमुना खतरे के निशान से ऊपर पहुंच जाएगी। निचले इलाकों में तो पानी भरेगा ही साथ ही उत्तरी-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में भी पानी भरने का खतरा बना रहेगा।(Photo-sanchit khanna)
delhi on flood alert after 40 years
दिल्ली में कुछ ऐसा ही आलम 1978 में था। तब यमुना में सबसे बड़ी बाढ़ आई थी। यमुना में ताजेवाला से 7 लाख क्यूसेक के करीब पानी छोड़ा गया था। इतनी भारी मात्रा में नदी में पानी आने से दिल्ली में यमुना का जल स्तर 207.49 मीटर तक पहुंच गया था। (Photo-sanchit khanna)
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Delhi on flood alert after 40 years