DA Image

अगली फोटो

सिखों का प्रदर्शन

सिखों का प्रदर्शन
शिरोमणि अकाली दल और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के नेतृत्व में सैंकड़ों सिख प्रदर्शनकारियों ने राहुल गांधी के घर के बाहर प्रदर्शन किया और 84 के सिख विरोधी दंगों में कथित तौर पर शामिल कांग्रेस नेताओं के नामों का खुलासा करने की मांग की।
सिखों का प्रदर्शन
गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके ने बताया कि हम राहुल गांधी से मांग करते हैं कि वे उन कांग्रेसजनों के नाम का खुलासा करें जो 1984 के दंगों में शामिल थे। हमने उन्हें 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है।
सिखों का प्रदर्शन
एक टीवी न्यूज चैनल को दिए हाल के एक साक्षात्कार में राहुल गांधी ने कहा था कि 1984 के सिख विरोधी दंगों में संभवत: कुछ कांग्रेसजन शामिल थे और उन्हें इसके लिए दंडित किया जा चुका है।
सिखों का प्रदर्शन
प्रदर्शनकारियों ने कांग्रेस विरोधी नारे लगाए और काले झंडे तथा नारे लिखी तख्तियां दिखाईं। वे लोग इन दंगों में मारे गए हजारों लोगों के लिए न्याय की मांग कर रहे थे।
सिखों का प्रदर्शन
कमेटी ने इसके साथ ही राहुल गांधी के निवास 12 तुगलक रोड़ के बाहर प्रदर्शन कर रहे इन करीब 200 प्रदर्शनकारियों के लिए लंगर का भी आयोजन किया था। प्रदर्शनकारियों ने दंगा पीड़ितों के लिए अनुग्रह राशि, नौकरियां और आवास भत्ते की भी मांग की।
सिखों का प्रदर्शन
अखिल भारतीय 84 दंगा पीड़ित राहत समिति के अध्यक्ष कुलदीप सिंह भोगल ने कहा कि 2005 में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने इन दंगों के लिए माफी मांगी थी और 715 करोड़ रुपये के भत्ते देने का वादा किया था।
सिखों का प्रदर्शन
दंगे के मामलों की जांच के लिए एक विशेष जांच दल गठित करने के दिल्ली सरकार के फैसले के बाबत पूछे जाने पर कुलदीप सिंह भोगल ने कहा कि हम विशेष जांच दल के गठन की मांग पिछले 25 साल से कर रहे हैं।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिखों का प्रदर्शन