DA Image

अगली फोटो

भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी

भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी से पीड़ित लोग आलंपिक आयोजन समिति के अध्यक्ष सेबेस्टियन कोए और भारतीय ओलंपिक समिति के कार्यवाहक अध्यक्ष विजय मल्होत्रा का पुतला फूंकते हुए। लोग डाउ केमिकल को ओलंपिक खेलों का प्रायोजक बनाने का विरोध कर रहे हैं।
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी की पूर्व संध्या पर मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए लोग। 3 दिसंबर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड के प्लांट से विषैली गैस के रिसाव से 15,000 लोगों की मौत हो गई थी।
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी की पूर्व संध्या पर मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए लोग। 3 दिसंबर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड के प्लांट से विषैली गैस के रिसाव से 15,000 लोगों की मौत हो गई थी।
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी से पीड़ित लोग आलंपिक आयोजन समिति के अध्यक्ष सेबेस्टियन कोए और भारतीय ओलंपिक समिति के कार्यवाहक अध्यक्ष विजय मल्होत्रा का पुतला फूंकते हुए। लोग डाउ केमिकल को ओलंपिक खेलों का प्रायोजक बनाने का विरोध कर रहे हैं। 3 दिसंबर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड के प्लांट से विषैली गैस के रिसाव से 15,000 लोगों की मौत हो गई थी।
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी से पीड़ित लोग डाउ केमिकल को ओलंपिक खेलों का प्रायोजक बनाने का विरोध करते हुए। 3 दिसंबर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड के प्लांट से विषैली गैस के रिसाव से 15,000 लोगों की मौत हो गई थी।
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी से पीड़ित लोग आलंपिक आयोजन समिति के अध्यक्ष सेबेस्टियन कोए और भारतीय ओलंपिक समिति के कार्यवाहक अध्यक्ष विजय मल्होत्रा का पुतला फूंकते हुए। लोग डाउ केमिकल को ओलंपिक खेलों का प्रायोजक बनाने का विरोध कर रहे हैं। 3 दिसंबर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड के प्लांट से विषैली गैस के रिसाव से 15,000 लोगों की मौत हो गई थी।
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी से पीड़ित लोग डाउ केमिकल को ओलंपिक खेलों का प्रायोजक बनाने का विरोध करते हुए। 3 दिसंबर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड के प्लांट से विषैली गैस के रिसाव से 15,000 लोगों की मौत हो गई थी।
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी
भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी पर गैस पीड़ित लोगों ने रैली निकालकर इस हादसे में मरे लोगों को श्रद्धांजलि दी। 3 दिसंबर 1984 की रात यूनियन कार्बाइड के प्लांट से विषैली गैस के रिसाव से 15,000 लोगों की मौत हो गई थी।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भोपाल गैस त्रासदी की 27वीं बरसी