DA Image

अगली फोटो

नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन

नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की विरासत को दृढ़तापूर्वक सामने रखने का प्रयास करते हुए और भाजपा पर हमला करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज कहा कि नेहरू जी के विचारों पर खतरा पैदा हो गया है।
नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
जवाहरलाल नेहरू की 125वीं जयंती पर कांग्रेस द्वारा आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में ममता बनर्जी, प्रकाश करात और सीताराम येचुरी, एच डी देवगौड़ा, शरद यादव, डी राजा और डी पी त्रिपाठी ने हिस्सा लिया।
नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
कांग्रेस अध्यक्ष ने अपने प्रारंभिक भाषण में कहा कि नेहरू के जीवन और कार्यों के बारे में जानकारी का प्रवाह हाल के दिनों में तथ्यों को गलत ढंग से रखने और तोड़ मरोड़ कर पेश करने से कमजोर हुआ है।
नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
सोनिया ने कहा कि नेहरू का यह मत बिल्कुल सही साबित हुआ है कि बहु जातीय, बहु धार्मिक, बहु भाषाई और बहु क्षेत्रीय समाज में सिर्फ संसदीय लोकतंत्र और एक धर्मनिरपेक्ष सरकार ही देश को एकजुट रख सकती है।
नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
लोकसभा चुनावों में करारी हार के 6 महीने बाद कांग्रेस द्वारा इस तरह का यह पहला आयोजन है। पार्टी के इस आयोजन को सभी गैर भाजपा और गैर राजग दलों को धर्मनरपेक्षता की छतरी तले एकजुट करने की कोशिश के रूप में भी देखा जा रहा है।
नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन
इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या भाजपा के किसी अन्य नेता को आमंत्रित नहीं किया गया है। सोनिया ने कहा कि यह सम्मेलन सिर्फ पंडित नेहरू की 125वीं जयंती मनाने भर का नहीं बल्कि नेहरू की विरासत की प्रासंगिकता, स्थायित्व और अपरिहार्यता की पुष्टि करने का एक अवसर है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेहरू पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन