DA Image

अगली फोटो

खाने की ये चीजें आजमाएं, एसिडिटी जाएंगे भूल

हिन्दुस्तान फीचर टीम, नई दिल्ली
gastric trouble
गर्मी अपने साथ एसिडिटी, अपच सरीखी समस्याएं भी लाती है। मौसम का पारा जैसे-जैसे बढ़ता है, वैसे-वैसे एसिडिटी भी बढ़ती जाती है। पर क्या आप जानती हैं कि खुराक में बदलाव लाकर इस समस्या पर काबू पाया जा सकता है? बता रही हैं दिव्यानी त्रिपाठी
acidity
आपको कब्ज है, उल्टी होती है, सूखा कफ, गले या पेट में जलन, गले में खुश्की या सूजन आदि है? इनमें से एक या इससे अधिक लक्षण से अगर आप परेशान हैं तो एसिडिटी की शिकार हो सकती हैं। गर्मी में यह समस्या बेहद आम हो जाती है, जिसका कारण होता है, बढ़ता पारा और खानपान की खराब आदतें। जानकारों की मानें तो इस समस्या के समाधान के लिए आपको अपने मेन्यू में कुछ चीजों को जोड़ने और कुछ को घटाने की जरूरत है।
banana
केला है एंटीडोट केला, जी हां आपने एकदम सही पढ़ा। इस फल को एसिडिटी की एंटीडोट कहा जाता है। इसमें मौजूद पोटैशियम के चलते पेट की भीतरी दीवारों पर म्यूकस की सतह बन जाती है, जो एसिड से होने वाले पेट के नुकसान से बचाती है और शरीर के पीएच स्तर को कम करती है। केले में अच्छी मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है, जो कि पेट को दुरुस्त रखता है। मौसमी फल आएंगे काम वह कहते हैं न, मौसमी फल हमेशा सेहत के लिए अच्छे होते हैं। उसी का उदाहरण है तरबूज और खरबूजा। इन दोनों में ही अच्छी मात्रा में एंटीऑक्सीटेंड्स और फाइबर होता है, जो कि एसिडिटी से बचाता है। साथ ही पेट को भी सही रखता है। इतना ही नहीं, इनमें मौजूद पानी आपको हाइड्रेट रखता है और म्यूकस की सतह को भी सुरक्षित रखता है।
Coconut Water
नारियल पानी देगा राहत मौसम के गर्म मिजाज में नारियल पानी को खानपान की आदत में शामिल कर लेना काफी राहत भरा रहेगा। यह पेय शरीर के विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है और पेट को भीतर से ठंडा रखने का काम करता है। ठंडा दूध है गुणकारी खुद से एसिडिटी को दूर रखने में दूध भी आपकी मदद कर सकता है, पर इस काम के लिए आपको ठंडे दूध का सेवन करना होगा। यह पेट में एसिड को अवशोषित कर लेता है और उसकी जलन से राहत देता है। जब भी एसिडिटी या फिर सीने में जलन महसूस हो तो फटाफट एक गिलास ठंडा सादा दूध बिना कुछ मिलाए पीने से राहत मिलेगी।
cough and cold
मट्ठा और दही रहेगा अच्छा जहां एक ओर ये दोनों खाने के स्वाद में इजाफा करते हैं, वहीं पेट की समस्या के लिए भी रामबाण इलाज हैं। इनमें मौजूद अच्छे बैक्टीरिया यानी प्रोबायोटिक्स एसिडिटी से बचाते हैं। ये दोनों पाचन तंत्र को ठीक रखते हैं। इतना ही नहीं, रोजाना दही या मट्ठे के सेवन से आपकी यह समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी। अदरक से दोस्ती रहेगी अच्छी अकसर आप बढ़ते पारे के साथ ही अदरक का इस्तेमाल कम करना शुरू कर देती हैं। कुछ लोग रसोई में सिर्फ इसका प्रयोग इसलिए नहीं करते, क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है। इस बाबत न्यूट्रीशनिस्ट डॉ. भारती दीक्षित कहती हैं कि अदरक में प्राकृतिक रूप से एसिड को खत्म करने का गुण होता है यानी अदरक के सेवन से भी आप एसिडिटी की समस्या पर काबू पा सकती हैं।
पुदीना और फ्रेश लाइम जूस
पत्तियां आएंगी काम हरी पत्तियां जैसे तुलसी, करी पत्ता, पुदीना, धनिया आदि को अपनी खुराक में शामिल करना भी आपको गर्म मौसम में एसिडिटी से बचाने का काम करेगा। तुलसी की पत्ती ठंडक देती है। इसमें एंटीऑक्सीटेंड भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। साथ ही ये शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर करने की आयुर्वेदिक औषधि भी है। करी पत्ता की बात करें तो उसमें बीटाकेरोटीन पाया जाता है, जो हमारी त्वचा के लिए अच्छा होता है। साथ ही इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट एसिडिटी नहीं होने देते। करी पत्ते में पेट की जलन को खत्म करने की भी खूबी होती है। करी पत्ता में विटामिन-ए भी होता है। पुदीना ठंडक देता है और पेट की गर्मी को शांत करता है। ग्रीन टी की ओर रुख करें तो उसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट गैस से निजात दिलाते हैं। गर्म सब्जी से रखें दूरी गर्म मौसम में कुछ सब्जियों का इस्तेमाल आपके पेट की गर्मी को और बढ़ा सकता है। बकौल डॉ. भारती पालक, चुकंदर, मूली, लहसुन, कच्ची अमिया आदि सब्जियां गर्म होती है, जो कि एसिड बनाने का काम करती है। खासतौर से जब आपको एसिडिटी परेशान कर रही हो, तब इनका सेवन करने से पूरी तरह से बचें। ये भी जानें एसिडिटी महसूस होने पर बिना कैफीन वाली हर्बल टी फायदेमंद रहेगी। लो फैट मिल्क, कोकोनट मिल्क, स्मूदी, पानी, काजू मिल्क, आलमंड मिल्क और सोया मिल्क आदि भी राहत देंगे। एसिडिटी होने पर सेब का जूस नहीं पिएं। यह नुकसान करेगा। ओट्स शरीर से एसिड को सोखने का काम करता है। एसिडिटी की समस्या से बचने के लिए इसे भी खुराक में शामिल करें। रेड मीट से परहेज करें। आपकी नॉनवेज डिश रोस्ट या ग्रिल्ड हो तो बेहतर होगा। अंडे का पीला हिस्सा खाने से बचें। ल का तेल, अलसी का तेल, सूरजमुखी का तेल और अखरोट आदि ट्रांस फैट घटाने का काम करते हैं। इस खराब फैट के चलते भी एसिडिटी होती है। इन सामग्रियों को भी अपनी रसोई में जगह दें।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Try these things to eat to avoid acidity