DA Image

अगली फोटो

पेट की अतिरिक्त चर्बी दिमाग को पहुंचा सकती है नुकसान

लाइव हिन्दुस्तान
stomach fat can affect your brain
डॉक्टरों का कहना है कि पेट की अतिरिक्त चर्बी आपके दिमाग में ग्रे मैटर की मात्रा को कम कर सकती है और अतिरिक्त वजन दिमाग के कई क्षेत्रों में सिकुड़न से जुड़ा होता है। इसके साथ ही मोटापे के रोगियों में हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और डिस्लिपिडेमिया का भी खतरा बढ़ जाता है। (Shutterstock)
stomach fat can affect your brain
हार्टकेयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ केके अग्रवाल ने कहा कि सामान्य वजन का मोटापा हमारे देश में एक नई महामारी है। इसका एक प्रमुख कारण आज की जीवनशैली है। (Shutterstock)
stomach fat can affect your brain
ऑन-द-गो और तेज-रफ्तार जीवन का मतलब है कि लोग नाश्ते को छोड़ देते हैं और बाकी पूरा दिन अस्वास्थ्यकर, क्विक फिक्स रिफाइंड कार्ब्स वाला भोजन खाते हैं। पेट के चारों ओर एक इंच अतिरिक्त वसा हृदय रोग की संभावना को 1.5 गुना बढ़ा सकती है। (Shutterstock)
stomach fat can affect your brain
हार्टकेयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ केके अग्रवाल ने कहा कि पुरुषों में 90 सेमी और महिलाओं में 80 सेंटीमीटर से अधिक का उदर रोग एक संकेत है कि व्यक्ति भविष्य में दिल के दौरे की चपेट में आ सकता है। (Shutterstock)
stomach fat can affect your brain
पुरुषों में 20 वर्ष की आयु के बाद और महिलाओं में 18 वर्ष की आयु के बाद 5 किलोग्राम से अधिक वजन नहीं बढ़ना चाहिए। 50 वर्ष की आयु के बाद किसी के वजन की निगरानी करना और उसे उचित रूप से कम करना भी अनिवार्य है। (Shutterstock)
stomach fat can affect your brain
एक बार जब किसी व्यक्ति का कद बढ़ना बंद हो जाता है, तो उसके अंगों का बढ़ना बंद हो जाता है और केवल मांसपेशियां ही एक हद तक निर्माण कर पाती हैं। वसा का जमाव एकमात्र कारण है जो उस चरण के बाद शरीर के वजन को बढ़ाता है। (फोटो-एचटी)
stomach fat can affect your brain
डॉ केके अग्रवाल ने कहा कि जो लोग मोटे हैं, उन्हें परिष्कृत काबोर्हाइड्रेट के सेवन को सीमित करने का लक्ष्य रखना चाहिए क्योंकि वे रक्त शर्करा के स्तर और इंसुलिन के उत्पादन को बढ़ाते हैं। इंसुलिन प्रतिरोध वाले लोगों में, इस वृद्धि से आगे वजन बढ़ सकता है। (Shutterstock)
stomach fat can affect your brain
डॉ केके अग्रवाल ने कहा कि हर दिन व्यायाम करें और स्वस्थ आहार का सेवन करें, सभी 7 रंगों और 6 स्वादों का मिश्रण भोजन में शामिल करें। किसी भी रूप में रिफाइंड चीनी का सेवन न करें, क्योंकि यह रक्त प्रवाह में अधिक आसानी से अवशोषित हो सकती है और आगे की जटिलताओं का कारण बन सकती है। (Shutterstock)
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:stomach fat can affect your brain