Hindi Newsगैलरीलाइफस्टाइलमहिलाओं को लगती है ये सामान्य समस्या लेकिन हो सकती है कैंसर जैसी बीमारी का संकेत

महिलाओं को लगती है ये सामान्य समस्या लेकिन हो सकती है कैंसर जैसी बीमारी का संकेत

महिलाएं अक्सर व्हाइट डिस्चार्च की समस्या को इग्नोर करती हैं लेकिन लगातार लंबे समय तक ये समस्या बड़ी बीमारी का संकेत हो...

AparajitaWed, 5 June 2024 09:04 PM
1/7

महिलाओं में सफेद पानी की समस्या

महिलाओं में सफेद पानी की समस्या काफी ज्यादा देखने को मिलती है। जिसे ज्यादातर महिलाएं शर्मिंदगी की वजह से छिपाती हैं और सही इलाज नहीं करवाती। सफेद पानी जिसे ल्यूकोरिया भी कहते हैं। इसमे वजाइना से सफेद, गाढ़ा, चिपचिपा पानी निकलता है। जिसका रंग कई बाद पीला होता है और ये बदबूदार भी रहता है।

2/7

किसी भी उम्र में हो सकती है सफेद पानी की समस्या

सफेद पानी की समस्या आमतौर पर 25 से 35 साल की महिलाओं मे ज्यादा देखने को मिलती है। लेकिन कई बार ये समस्या कम उम्र की लड़कियों को भी हो जाती है।

3/7

ल्यूकोरिया के लिए जिम्मेदार होते हैं ये कारण

महिलाओं में ल्यूकोरिया की समस्या ज्यादातर बार-बार अबॉर्शन करवाने, वजाइनल हाइजीन की कमी की वजह से होती है। वहीं गर्भाशय के मुख पर चोट, योनी में बैक्टीरिया, ज्यादा खट्टा, चटपटा, मसालेदार, ऑयली खाना खाने की वजह से भी होता है।

संबंधित फोटो गैलरी

4/7

इन गंभीर बीमारियों का रहता है खतरा

लंबे समय तक अगर ल्यूकोरिया की समस्या को अनदेखा किया जाए तो ये किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। सर्वाइकल कैंसर, एंडोमैट्रियल कैंसर, गर्भाशय ग्रीवा में चोट की वजह से सूजन, हार्मोनल इंबैलेंस, वजाइनल कैंसर, किडनी या लिवर की बीमारी, हीमोग्लोबिन की कमी।

5/7

प्रेग्नेंसी में होती है समस्या

वहीं ल्यूकोरिया की वजह से गर्भपात होने का भी खतरा रहता है और प्रेग्नेंसी में मुश्किल आती है।

6/7

ल्यूकोरिया से होने वाली समस्याएं

सफेद पानी की समस्या महिलाओं में चिड़चिड़ापन, पैदा कर देती है। इसके अलावा तनाव, मूड स्विंग और एनर्जी की कमी महसूस होती है। वहीं शारीरिक कमजोरी भी महसूस होती है।

7/7

जरूरी है इलाज

अगर सफेद पानी की समस्या घरेलू इलाज से ठीक नहीं हो रही तो जरूरी है कि डॉक्टर को समय पर दिखाएं। जिससे कि बड़ी गंभीर बीमारी के खतरे से बचा जा सके।

संबंधित फोटो गैलरी