Saturday, January 29, 2022
हमें फॉलो करें :
हिंदी न्यूज़ फोटो जीवन शैलीअपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

Sun, 28 Nov 2021 04:57 PM
अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

1/8हर माता-पिता को अपने बच्चों से कई उम्मीदें होती हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि बच्चे भी माता-पिता से बहुत-सी उम्मीदें करते हैं। बड़े होने के साथ बच्चों को माता-पिता की उनसे की जाने वाली उम्मीदें समझ आने लगती हैं।

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

2/8वहीं, ऐसा बहुत कम होता है, जब माता-पिता अपने बच्चों की उम्मीदें समझ पाते हैं। ऐसे में आप भी अगर पैरेंट हैं, तो आपको ये बातें समझनी चाहिए-

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

3/8बच्चों की राय भी सुनें आपका बच्चा कितना भी छोटा क्यों न हो लेकिन आपको उसकी बातें जरूर सुननी चाहिए। बच्चों की राय भी सुनें। कभी-कभी बच्चे भी अनजाने में बहुत कुछ ऐसा कह जाते हैं जिससे आपको जिंदगी की एक नई दिशा मिल जाती है। खासकर बच्चों को अपनी बात कहने की आदत तभी पड़ेगी, जब उनकी बातें सुनी जाएगी।

संबंधित फोटो गैलरी

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

4/8बच्चों की प्रॉब्लम्स को सुनें बच्चों की प्रॉब्लम आपके लिए कितनी भी छोटी क्यों न हो लेकिन कभी भी उसे इग्नोर न करें। बच्चों को किसी भी चीज से प्रॉब्लम हो, तो उसे सुनकर सॉल्व करने की कोशिश करें। हर बच्चा चाहता है कि उसकी प्रॉब्लम्स पर उसके पैरेंट्स ध्यान देने के साथ उसका हल भी निकालें।

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

5/8बच्चों के साथ क्वालिटी टाइम बिताएं दोस्तों के साथ बिताने के अलावा भी बच्चे अपने माता-पिता के करीब भी रहना चाहते हैं। बच्चे बेशक आपसे डायरेक्ट न कहें लेकिन फिर भी वे चाहते हैं कि आप बच्चे के साथ बात करें, घूमने जाएं या फिर उनके खेल का हिस्सा बनें।

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

6/8बच्चों की तारीफ करें बच्चा जब भी कोई अच्छा काम करता है, तो बच्चों की पीठ थपथपाना न भूलें। बच्चों को इससे मोटिवेशन मिलता है। बच्चे इससे बच्चा काफी कॉन्फिडेंट भी फील करता है।

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

7/8बच्चों को सपोर्ट करें बच्चों को सपोर्ट करने का मतलब है कि अगर आपका कोई करीबी या दोस्त बच्चे के बारे में बुरी बात भी कह रहा है, तो कभी भी किसी के सामने बच्चे को डांटकर नहीं बल्कि उन्हें प्यार से समझाकर सपोर्टिव फील कराएं।

अपने माता-पिता से इन बातों को समझने की उम्मीद करते हैं बच्चे

8/8बच्चों को सेफ फील कराएं पैरेंट की सबसे बड़ी जिम्मेदारी है कि बच्चों को सेफ फील कराएं। बच्चा अगर किसी बात से डरता भी है, तो बच्चों को फील कराएं कि उनके रहते उन्हें डरना नहीं है। वे कोई भी प्रॉब्लम उनसे शेयर कर सकते हैं।

संबंधित फोटो गैलरी

अगली गैलरी