DA Image

अगली फोटो

वर्ल्‍ड साइट डे : आंखों में रोशनी नहीं मगर सीख रहे ब्रेस्‍ट कैंसर की पहचान का तरीका

कबीर सिंह भंडारी, नई दिल्‍ली
world sight day
अक्‍तूबर को ब्रेस्ट कैंसर अवेयरनेस मंथ के तौर पर पूरी दुनिया में मनाया जाता है। इस दौरान दुनिया के अलग-अलग हिस्‍सों में स्‍तन कैंसर के प्रति जागरूकता लाने के लिए कई तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। महिलाओं में पाई जाने वाली इस बेहद खतरनाक बीमारी से निपटने के लिए नेशनल एसोसिएशन फॉर ब्‍लाइंड (एनएबी) सेंटर फॉर ब्‍लाइंड वुमेन डिसएबिलिटी स्‍टडीज ने जर्मनी की संस्था डिस्‍कवरिंग हैंड्स की भारतीय इकाई के साथ काम कर रही है।
world sight day
2015 में जर्मनी की डिस्‍कवरिंग हैंड्स संस्‍था ने गुड़गांव स्‍थित मेदांता मेडिसिटी में ब्रेस्‍ट सर्विसेज में एसोसिएट डायरेक्‍टर डॉक्‍टर कंचन कौर से संपर्क किया था। उन्‍होंने बताया कि जर्मनी में उन्‍होंने देखा कि नेत्रहीन महिलाएं भी ब्रेस्‍ट कैंसर स्‍क्रीनिंग किसी मेडिकल एक्‍सपर्ट की तरह ही कर रही थीं। मगर वह अपने काम में अधिक सजग और सतर्क थीं।
breast cancer
कोर्स में शामिल होने के लिए 5 दिनों का एसेसमेंट पीरियड है। इस दौरान यह देखा जाता है कि नेत्रहीन महिलाएं ब्रेस्‍ट कैंसर की जांच करने वाले इस कोर्स के लिए सक्षम हैं या नहीं। इस कोर्स में शामिल होने के लिए 18 साल की उम्र होना जरूरी है।
breast cancer
यह कोर्स नौ माह का होता है। इस दौरान उन्‍हें ब्रेस्‍ट एक्‍जामिनेशन, ट्यूमर और कैंसर की पहचान करना सिखाया जाता है।
world sight day
एनएबी में टैक्‍टिकल एक्‍जमिनर हसीबा रानी ने बताया कि ग्रैजुएशन खत्म होने तक मेरी आंखों की रोशनी पूरी तरह से जा चुकी थी। घर में बैठने की वजह से मैं डिप्रेशन की शिकार भी हो गई थी। फिर 2017 में मुझे एनएबी और डिस्‍कवरिंग हैंड्स के बारे में पता चला। हसीबा की तरह टैक्‍टिकल एक्‍जामिनर श्‍वेता वर्मा कहती हैं यहां आने के पहले तक मेरे परिवार को लगता था कि घर में रहना ही सुरक्षित है। मगर आज मैं बेहद खुश हूं। अब मेरे परिवार को भी मुझ पर नाज है, क्‍योंकि मैं दिल्‍ली के एक हॉस्‍पिटल में काम करती हूं।
breast cancer
बहुत सारी लड़कियां या महिलाएं ऐसे ही परिवेश से आती है, जहां दृष्‍टि बाधित होने का मतलब परिवार और समाज द्वारा नजरअंदाज कर दिया जाना होता है। इस मुहिम को विभिन्‍न हॉस्‍पिटलों में शामिल करवाने का बीड़ा एफएलटी में सर्जिकल ऑनकोलॉजी विभाग के हेड डॉक्‍टर मनदीप सिंह मलहोत्रा ने उठाया है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:World Sight Day: Learning Way to Identify Breast Cancer without Eyesight