DA Image

अगली फोटो

तेजपत्ता का काढ़ा दूर करेगा मोच, कमर दर्द और नसों में आई सूजन

लाइव हिन्दुस्तान, नई दिल्ली
bay leaf
हमारे किचन में मौजूद मसाला तेजपत्ता का इस्तेमाल हम खाने की खुशबू बढ़ाने के लिए करते हैं। मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि यह शाही मसाला कई तरह के दर्द में राहत पहुंचाने के काम भी आता है। तेजपत्ता कई तरह के रोगों और शारीरिक परेशानियों में भी फायदेमंद है। इसके तेल में कई औषधीय गुण होते हैं, जिसका इस्तेमाल एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल, एंटी इंफ्लामेट्री और पेन रिलीविंग बाम और जेल में किया जाता है। इसका काढ़ा बनाकर पीने से भी काफी आराम मिलता है।
bay leaf
तेजपत्ते में कॉपर, पौटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम और आयरन काफी मात्रा में मौजूद होता है। यह कई तरह के एंटीऑक्सिडेंट्स से भी भरपूर होता है जो कैंसर, ब्लड क्लॉटिंग और दिल की कई गंभीर बीमारियों से बचाते हैं।
bay leaf
तेजपत्ता का काढ़ा बनाने के लिए 10 ग्राम अजवायन, 5 ग्राम सौंफ और 10 ग्राम तेजपत्ता एक साथ पीस लें। अब इस मिश्रण को एक लीटर पानी में मिलाकर उबाल लें। जब पानी 100-150 मिलीलीटर रह जाए तो गैस बंद कर दें और उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। ठंडा होने के बाद इस काढ़े को पी लें।
bay leaf
तेजपत्ता का काढ़ा पीने से पुराने कमर दर्द में बहुत जल्दी आराम मिलता है। शीत लहर के कारण होने वाले दर्द को भी ये काढ़ा दूर करता है। इसके अलावा कमर दर्द में आप तेजपत्ता के तेल से भी मालिश कर सकते हैं।
bay leaf
मोच की वजह से आई सूजन और तेज दर्द में तेजपत्ता का काढ़ा पीने काफी आराम मिलता है। इसके अलावा मोच वाली जगह पर तेजपत्ता को पीसकर उसका लेप लगाने से भी बहुत राहत मिलती है। इससे दर्द और सूजन दोनों कम हो जाते हैं।
bay leaf
नसों में सूजन है तो रोजमर्रा के काम प्रभावित होते हैं। नसों में खिंचाव, किसी चोट या नसों पर दबाव के कारण सूजन और दर्द होने लगता है। इस समस्या से निपटने में भी तेजपत्ता का काढ़ा आराम पहुंचाता है। नसों में सूजन होने पर दालचीनी, लौंग और तेजपत्ता को थोड़ा सा पानी मिलाकर पीस लें और लेप बनाकर दर्द और सूजन वाली जगह पर लगाने से भी काफी आराम मिलता है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:know the benefits of bay leaf decotion