DA Image

अगली फोटो

बहुत कम कैलौरी वाली मसूर की दाल के इन 8 फायदों के बारे मे नहीं जानते होंगे आप

लाइव हिन्‍दुस्‍तान, नई दिल्‍ली
masoor daal
बिना छिलके की मसूर की दाल अक्‍सर घर में बनाई जाती है। यह दाल स्‍वाद में तो बढ़िया होती ही है, इसमें कैलोरी की मात्रा भी काफी कम होती है। खास बात यह है कि कैलोरी कम होने के बावजूद इसमें न्‍यूट्रिशन भरपूर होता है। इसका इस्‍तेमाल कई तरीके से किया जाता है। दाल के तौर पर तो यह खाई ही जाती है, इसके अलावा पकौड़ी, सलाद या सब्‍जियों के साथ मिलाकर भी बनाया जाता है। यह दाल पचने में हल्‍की होती है। इसके अलावा भी इसके कई जबरदस्‍त फायदे हैं। आइए जानते हैं इन्‍हें
cholestrol
कोलेस्ट्रॉल कम होना : मसूर की दाल खाने से ब्‍लड में कोलेस्ट्रॉल की मात्र कम होना देखा गया है। इनमें घुलनशील फाइबर की बहुत ज्यादा मात्र होती है जिससे यह कोलेस्‍ट्रॉल को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है।
heart health
तंदुरुस्‍त दिल : पहले हुए कुछ अध्‍ययनों में कहा गया है अधिक फाइबर वाला खाना खाने से दिल की बीमारियां कोसों दूर रहती हैं। मसूर की दाल में फोलेट और मैग्नीशियम काफी मात्रा में शरीर को प्राप्‍त होता है, जो दिल की सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है।
boost digestion
पाचन के लिए अच्‍छी : मसूर की दाल में अघुलनशील फाइबर होने के कारण इसे खाने से कब्ज नहीं होता है। इसे खाने से हाजमा दुरुस्‍त रहता है।
cancer blood test
ब्लड शुगर पर नियंत्रण : इससे डायबिटीज के मरीजों को बहुत फायदा होता है। यह खासकर इनसुलिन रेसिस्‍टेंस डायबिटीज के मरीजों के लिए अच्‍छी होती है।
masoor ki daal
प्रोटीन का अच्छा स्रोत : सभी फलियों और बादाम में सबसे अच्छा प्रोटीन स्रोत में तीसरे नंबर पर मसूर की दाल का स्थान है। इसमें लगभग 26 प्रतिशत प्रोटीन की मात्र होती है।
pregnancy happiness
आयरन का अच्‍छा स्रोत : पहले हुए कुछ अध्‍ययनों में कहा गया है की मसूर की दाल से पुरुषों के लिए एक दिन में जरूरी आयरन की 87 प्रतिशत की जरूरत पूरी हो सकती है और महिलाओं की 38 प्रतिशत। यह दाल गर्भवती महिलाओं के लिए भी बहुत उपयोगी साबित होती है क्योंकि ऐसे वक्त में शरीर को आयरन की काफी जरूरत होती है।
HEALTHY TEETH
दांतों के लिए उपयोगी : मसूर की दाल को जला कर बारीक पीस कर भसम बना लें और उनसे रोजाना मसूढ़ों व दांतों की मसाज करने से दांत और मसूढ़ साफ और मजबूत बनते हैं।
त्वचा के लिए बेस्‍ट : मसूर की दाल में घी और दूध मिला कर 7 दिन तक चेहरे पर लगाने से झुरियां खत्‍म हो जाती हैं। बरगद की नर्म पत्तियों को मसूर की दाल के साथ मिला कर पीस लें और उसका लेप लगाने से चहरे के दाग-धब्बे मिट जाते हैं। साथ ही यह भी कहा जाता है की मसूर की दाल का भस्म बना कर उसमें दूध मिलाकर घाव या चोट पर लागने से घाव जल्दी भर जाते हैं।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:know about these 8 benefits of very little calorie masoor daal