DA Image

अगली फोटो

Health Tips : Weight loss हो या दिल की रखवाली चना हर मौके के लिए है बेस्ट, इसके ये फायदे भी जानें

हिन्दुस्तान फीचर टीम, नई दिल्ली
chana
बड़े-बुजुर्ग कहते आए हैं कि चना खाने वालों में घोड़े जैसी ताकत होती है। इस कारण बच्चों को चना खाने के लिए प्रेरित किया जाता रहा है। कई बार आपात स्थिति के लिए भी चने की पोटली रखने की परंपरा रही है। पोषण से भरपूर स्नैक्स के रूप में लोकप्रिय चने के फायदे और इस्तेमाल के बारे में जानकारी दे रही हैं स्वाति गौड़ पोषक तत्वों की वजह से चने को विशेष भोजन माना जाता रहा है। यूं तो इसके बहुत से फायदे हैं, लेकिन इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसके सेवन से शक्तिवर्धन के साथ-साथ पाचन सही रहता है और हृदय तंदुरुस्त। फाइबर की अधिकता की वजह से इसे वजन घटाने में सहायक माना जाता है। यह प्रोटीन का एक बेहतर स्रोत है। इसके नियमित सेवन से इम्यूनिटी भी बढ़ती है।
chana
खनिज से भरपूर : खनिज की बात करें, तो चने में मैगनीज काफी मात्रा में होता है। कुछ अन्य पोषक तत्व जैसे थायमीन, फैटी एसिड, मैग्नीशियम और फॉस्फोरस भी इसमें पाया जाता है। यही वजह है कि चने को लोग एक पावर हाउस स्नैक्स के रूप में भी बहुत पसंद करते हैं। ऐसे में इसकी खूबियों के बारे में जानकारी जरूरी हो जाती है।
chana masala
गरीबों का बादाम : हमारे देश में भुने चने खाने का चलन सदियों पुराना है। एक जमाने में घर के सारे सदस्य भुने चने नियमित रूप से खाते थे। गुड़ के साथ खाने से यह रूखे नहीं लगते और गला भी नहीं रुंधता। आजकल बाजार में दो तरह के भुने चने मिलते हैं- छिलके वाले और बिना छिलके वाले। वैसे दोनों ही तरह के चने फायदेमंद होते हैं। हल्के मसाले और हींग के स्वाद के साथ भुने चने पैकेट में भी मिलते हैं। भुने चनों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन और विटामिन भरपूर मात्रा में होते हैं। इन्हें ठीक ढंग से चबा-चबाकर खाने से शरीर में मजबूती आती है। भुने चने में कैलरी बहुत कम होती है। एक कप भुने चने में 15 ग्राम प्रोटीन और 13 ग्राम डाइटरी फाइबर होता है। ज्यादा खाने से इनसे खांसी हो सकती है।
salad
ऊर्जा का स्रोत अंकुरित चने : अगर आप चनों को भिगोकर उन्हें अंकुरित कर लें, तो उनसे बनी चाट का अपना ही मजा है। प्याज, हरी मिर्च, अदरक, टमाटर के बारीक टुकड़ों के साथ नीबू और चाट मसाला डालकर यह चाट आप दिन में किसी भी समय खा सकते हैं। ऊर्जा बढ़ाने वाला यह सबसे बढ़िया स्नैक्स है, जिसे खाने से सुस्ती और थकान भी गायब हो जाती है। जिस घर में महिलाएं या बच्चे एनीमिया के शिकार हैं, उन्हें तो अंकुरित चनों का सेवन जरूर करना चाहिए, क्योंकि यह आयरन से भरपूर है।
chana
चलते-चलते हो जाये चना जोर गरम : आज भी शहर के बहुत से इलाकों में साइकिल पर या ठेले पर चना जोर गरम बेचने वाले मिल जाते हैं। चने को उबालकर, फिर उसे दबाकर चपटा-सा कर लिया जाता है। सूखा, करारा, चटपटे मसाले में लिपटा चना जोर गरम जायके से भरपूर होता है। वैसे आजकल कुछ कंपनियां पैकेटबंद चना जोर गरम भी बेचती हैं।
green chick peas
भुने चने, टेस्टी चने : अष्टमी या नवमी पर पूड़ी और हलवे के साथ हल्के भुने मसालेदार चने बनाए जाते हैं। यह भी एक हेल्दी स्नैक्स है। आप इन्हें रुटीन में भी खा सकते हैं। हफ्ते में कम-से-कम तीन दिन, ज्यादा से ज्यादा एक छोटी कटोरी भर ऐसे भुने चनों का सेवन किया जा सकता है। फ्राई करते समय तेल की मात्रा कम रखें, तो बेहतर है। विशेषज्ञ बताते हैं कि काले चने के नियमित सेवन से दिल की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है, क्योंकि यह कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है।
सीमित मात्रा में करें सेवन : चना भारी होता है, लेकिन इससे पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है। इसलिए सीमित मात्रा में इसका सेवन किया जाए। सप्ताह में 2-3 दिन चने के स्नैक्स खाए जा सकते हैं। जो लोग वजन कम करना चाहते हैं, उनके लिए तो चना बहुत फायदेमंद होता है। एक मुट्ठी भुने चने के सेवन से आप केवल 45-50 कैलरी का ग्रहण करते हैं और इससे भूख भी शांत हो जाती है। -डॉ. तरनजीत कौर, न्यूट्रिशनिस्ट, मेटाबॉलिक बैलेंस
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Health Tips Weight loss tips know benefits of chana for flat belly