DA Image

अगली फोटो

Health Bullets : जानें ये 4 छोटी-छोटी मगर मोटी बातें

हिन्दुस्तान फीचर टीम, नई दिल्ली
health bullets
आज से अपने रीडर्स के लिए हम शुरू कर रहे हैं Health Bullets। इसके तहत हम रीडर्स को हेल्थ जगत में होने वाले उन शोध नतीजों के बारे में जानकारी देंगे, जो आपकी रोजमर्रा की जिंदगी पर असर डालते हैं। देश-दुनिया के विभिन्न संस्थानों में होने वाले इन अध्ययनों के बारे में हम हर हफ्ते जानकारी देंगे। तो देखते रहिए Health Bullets
man sleeping
लंबी उम्र के लिए समय पर 8 घंटे सोएं : लंबी और स्वस्थ जिंदगी हर कोई चाहता है, लेकिन इसके लिए जरूरी कदम कोई नहीं उठाना चाहता। 117 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहने वाली जापानी महिला मिसाओ ओकावा ने एक लेखक को अपनी लंबी उम्र का राज बताया था। उन्होंने बताया कि लंबी और स्वस्थ जिंदगी के लिए आप निश्चित समय पर सोएं और 8 घंटे की नींद अवश्य पूरी करें। समय न इससे कम हो और न ही इससे ज्यादा। वे कुछ वर्ष पूर्व इस दुनिया को अलविदा कह गईं। विशेषज्ञों का भी मानना है कि आपकी नींद आठ घंटे की होनी चाहिए और आप नियमित रूप से समय पर सोएं व जागें। विशेषज्ञ बताते हैं कि आठ घंटे के इस समय में आप अधिक से अधिक आधा घंटा कम या अधिक मान सकते हैं।
juice
अधिक शुगर वाला फ्रूट जूस बढ़ा सकता है कैंसर का खतरा : हमारे यहां आम मान्यता है कि फलों के जूस सेहत के लिए नुकसानदेह नहीं हो सकते, लेकिन एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि अधिक शुगर वाले फलों के जूस भी सेहत के लिए नुकसादेह ही नहीं, बल्कि कैंसर का भी कारण बन सकते हैं। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में इस बात का खुलासा किया गया है कि ड्रिंक के रूप में हमारे पेय में शामिल सोडा भी केवल मोटापा ही नहीं बढ़ाता, बल्कि यह कई और बीमारियों का कारण भी बन सकता है। अध्ययन में कहा गया है कि एक कोक की एक तिहाई केन भी पीने से कैंसर का खतरा 18 प्रतिशत और ब्रेन ट्यूमर का खतरा 22 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। शोध में पाया गया कि अधिक मिठास वाले फ्रूट जूस पीने से भी कैंसर की आशंका रहती है।
सफेद मीट भी कोलेस्ट्रॉल के लिए उतना ही जिम्मेदार : नॉनवेज खाने वालों के बीच ये मान्यता है कि रेड मीट खाने से कोलेस्ट्रॉल में वृद्धि की आशंका अधिक रहती है, जो दिल की बीमारी का प्रमुख कारण बनता है। लेकिन एक नया शोध कहता है कि शरीर में बुरे कोलेस्ट्रॉल में बढ़ोत्तरी के लिए जितना जिम्मेदार रेड मीट है, उतना ही जिम्मेदार सफेद मीट यानी चिकन भी है। यह शोध यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया के प्रोफेसर रोनॉल्ड क्रॉस के नेतृत्व में किया गया। अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रिशन में प्रकाशित इस शोध में कहा गया है कि बुरे कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए न तो रेड मीट खाना चाहिए और न ही चिकन। शोध में कहा गया है कि थोड़ी मात्रा में इनके सेवन से ज्यादा नुकसान नहीं होता, लेकिन इसे न ही खाएं तो बेहतर है। शोधकर्ताओं ने माना है कि वनस्पति से मिलने वाला प्रोटीन हमारी सेहत के लिए ज्यादा अच्छा होता है।
world aids day
एड्स से होने वाली मृत्यु की संख्या हो रही है कम कुछ अर्से पहले तक ही यह माना जाता था कि जो व्यक्ति एड्स का शिकार हुआ, उसकी मृत्यु लगभग तय है। लेकिन हाल ही में एक रिपोर्ट आई है, जिसमें खुलासा किया गया है कि 2010 की तुलना में अब एड्स से मरने वालों की संख्या में 33 प्रतिशत की कमी आई है। यूएनएड्स ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें कहा गया है कि दुनियाभर में एड्स के मामलों में 16 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह रिपोर्ट दक्षिण और पूर्वी अफ्रीका पर आधारित है। वहां इसकी वजह प्रगति को माना गया है। रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि एड्स से जुड़ी मृत्यु में कमी देखी जा रही है। इसकी बड़ी वजह उपचार में हो रहे सुधार को माना गया है। साल 2010 की तुलना में एड्स से संबंधित मृत्यु के मामले में 33 प्रतिशत की गिरावट पाई गई है।
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:health bullets in hindi know why 8 hours sleep is necessary