DA Image
8 जुलाई, 2020|12:48|IST

अगली फोटो

CWC 2019: अगले वर्ल्ड कप में नजर नहीं आएंगे ये 8 सुपरस्टार क्रिकेटर

mahendra singh dhoni  afp
1 / 8

भारतीय क्रिकेट लीजेंड महेंद्र सिंह धौनी को लेकर ये अफवाहें चल रही हैं कि उनके क्रिकेट करियर का अंत आ गया। हालांकि, धौनी की तरफ से अभी कुछ नहीं कहा गया है, लेकिन यह तय है कि 38 साल के धौनी का यह आखिरी विश्वकप था। न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच खेलकर धौनी वनडे में 350 मैच खेल चुके हैं। भारत के सबसे भरोसमंद विकेटकीपर-बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी ने 2004 में डेब्यू किया और वह 50.57 की औसत से 10,773 न बना चुके हैं। केवल 8 खिलाड़ी धौनी से ज्यादा मैच खेले हैं। Mahendra Singh Dhoni (AFP)

chris gayle photo ht
2 / 8

'यूनिवर्सल बॉस' के नाम से मशहूर 39 साल के क्रिस गेल ने फरवरी 2019 में यह घोषणा की थी कि यह विश्व कप उनके लिए आखिरी होगा और इसके बाद वह संन्यास ले लेंगे। हालांकि इसके बाद वह अपनी बात से पलट गए और उन्होंने कहा कि अगस्त में वह भारत के खिलाफ वनडे के बाद संन्यास लेंगे। लेकिन क्या टीम उन्हें साथ रखना चाहेगी। गेल 298 मैचों में 37.93 की औसत से 10,393 रन बना चुके हैं। 1999 में शुरु हुआ उनका करियर 20 वर्ष पूरे करने जा रहा है। chris gayle photo ht

lasith malinga  afp
3 / 8

श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा भी अपना आखिरी वर्ल्ड कप खेल चुके हैं। 35 साल के मलिंगा ने विश्व कप से पहले ही कहा था कि विश्व कप में वह अपना आखिरी वनडे खेलेंगे। और अगले साल टी-20 का वर्ल्ड कप उनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आखिरी मैच होगा। इस विश्व कप में उन्होंने 28.69 की औसत से 13 विकेट लिए। अपने करियर में वह 29.2 की औसत से 335 विकेट ले चुके हैं। Lasith Malinga (AFP)

imran tahir  afp
4 / 8

दक्षिण अफ्रीका के लेग स्पिनर इमरान ताहिर विश्व कप 2019 को शायद ही याद नहीं रखना चाहेंगे। 40 साल के ताहिर ने अपने करियर का अंत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच खेलकर किया। देर से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आए इमरान ताहिर ने 2011 में वनडे में डेब्यू करने के बाद 24.83 की औसत से 173 विकेट लिए हैं। Imran Tahir (AFP)

JP Duminy
5 / 8

अगस्त 2004 में वनडे में डेब्यू करने वाले दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज जेपी डुमिनी ने इस विश्व कप में 17.50 की औसत से केवल 70 रन बनाए। यह खिलाड़ी वनडे में 5,117 रन 36.81 की औसत से बना चुके हैं। साथ ही वह 69 विकेट भी ले चुके हैं। लेकिन लगता है कि उनका करियर भी समाप्त हो गया है। JP Duminy

shoaib malik retirement photos
6 / 8

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शोएब मलिक का वनडे करियर अक्टूबर 1999 में शुरू हुआ था। उन्होंने 287 मैच खेले और 34.55 की औसत से 7,534 रन बनाए। विश्व कप उनके लिए भी निराशाजनक रहा। उन्होंने केवल तीन मैच खेले और केवल एक विकेट ली। बल्लेबाजी में भी वह कुछ खास नहीं कर पाए। (Photo Credit: Instagram)

mashrafe mortaza
7 / 8

बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि वह वनडे से संन्यास पर बाद में फैसला लेंगे। उन्होंने संन्यास की अटकलों पर कहा, 'अभी मेरा फ्यूचर प्लान यहां से घर जाना है और उसके बाद अंतिम फैसला लूंगा।' बावजूद इसके उनके संन्यास को लेकर अफवाहें हैं। 35 वर्षीय मुर्तजा ने बांग्लादेश के लिए 217 वनडे खेले और 32.92 की औसत से 266 विकेट लिए। उन्होंने नवंबर 2001 में डेब्यू किया था। विश्व कप उनके लिए भी फ्लॉप रहा। 56 ओवरों में मुर्तजा ने केवल 1 विकेट लिया। Mashrafe Mortaza

mohammad hafeez jpg
8 / 8

विश्व कप में पाकिस्तान के खराब प्रदर्शन के बावजूद अनुभवी ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज की सीमित ओवरों के प्रारूप से संन्यास लेने का अभी कोई इरादा नहीं है। भले ही मोहम्मद हफीज अभी संन्यास लेने को तैयार ना हों, लेकिन 2023 के वर्ल्ड कप में नजर नहीं आएंगे। पाकिस्तान के लिए 218 वनडे और 89 टी20 खेलने वाले हफीज ने पिछले साल अक्तूबर में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। Mohammad Hafeez.jpg

अगली गैलरी