DA Image
3 जून, 2020|8:57|IST

अगली फोटो

'हलवा रस्म' के साथ आज से बजट की छपाई शुरू, देखें तस्वीरें

budget 2020  halwa ceremony marking the commencement of budget printing process
1 / 6

1 फरवरी को पेश होने वाले आम बजट 2020 के दस्तावेजों की छपाई आज यानी सोमवार को हलवा रस्म के साथ शुरू हो गई। आम बजट इस साल ऐसे समय में पेश होगा, जब देश की आर्थिक विकास दर 6 साल के निचले स्तर पर आ गई है और लगातार कमजोर मांग के कारण आर्थिक सुस्ती बनी हुई है। (PTI Photo)

budget 2020  halwa ceremony marking the commencement of budget printing process
2 / 6

सोमवार को परंपरागत हलवा रस्म का आयोजन किया गया, जिसके बाद बजट दस्तावेजों की छपाई की औपचारिक शुरुआत हो गई। नॉर्थ ब्लॉक में आयोजित किए जा रहे 'हलवा समारोह' के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद थीं। (PTI Photo)

budget 2020  halwa ceremony marking the commencement of budget printing process
3 / 6

हर साल बजट को अंतिम रूप देने से कुछ दिन पूर्व नॉर्थ ब्लॉक में वित्त मंत्रालय में एक बड़ी कढ़ाई में हलवा बनाया जाता है। वित्त मंत्री खुद इस कार्यक्रम में भाग लेते हैं। हलवा बनाने की रस्म काफी पहले से ही चली आ रही है। इसके पीछे कारण यही है कि हलवे को काफी शुभ माना जाता है और शुभ काम की शुरुआत भी मीठे से की जाती है। (PTI Photo)

budget 2020  halwa ceremony marking the commencement of budget printing process
4 / 6

हलवा रस्म के दौरान लोहे के बड़े बर्तन में हलवा तैयार किया जाता है और वित्तमंत्री समेत वित्त मंत्रालय के कर्मचारियों को हलवा बांटा जाता है। (PTI Photo)

budget 2020  halwa ceremony marking the commencement of budget printing process
5 / 6

इसके बाद नार्थ ब्लॉक के बेसमेंट में जहां बजट की छपाई होती है, वहां अगले 10 दिनों तक यह प्रक्रिया चलेगी और इसमें शामिल मंत्रालय के कर्मचारी वहां बंद रहेंगे। ऐसी परंपरा है कि बजट छपाई का काम शुरू होने से पहले बजट तैयार करने की प्रक्रिया से प्रत्यक्ष तौर पर जुड़े मंत्रालय के अधिकारियों को हलवा समारोह के बाद मंत्रालय में ही रहना पड़ता है। (PTI Photo)

budget 2020  halwa ceremony marking the commencement of budget printing process
6 / 6

ये अधिकारी संसद में बजट पेश होने तक मंत्रालय में ही रहते हैं और बाहरी दुनिया यहां तक कि परिजनों से भी इनका संपर्क नहीं होता है। उन्हें फोन या ईमेल के जरिये भी किसी से संपर्क करने की इजाजत नहीं होती है। मंत्रालय के सिर्फ शीर्ष अधिकारियों को ही घर जाने की अनुमति होती है। (PTI Photo)

अगली गैलरी