DA Image

अगली फोटो

Diwali 2018: दिवाली पर होगा मां लक्ष्मी का वास, ऐसे करें मां लक्ष्मी का विधिपूर्वक पूजन

हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्ली
दीपावली का त्योहार यानी मां लक्ष्मी की आराधना का शुभ अवसर। यानी मां लक्ष्मी, जिनके आगे शीश नवा कर लोग उन्हें खुश करने के सारे जतन करते हैं। ये जतन सही तरीके से किए जाएं तो मां को बुलाना आसान हो जाता है। मां के बेहतरीन स्वागत के साथ ही उनकी पसंद-नापसंद का पूरा ख्याल उन्हें रिझाने के काम तो आता ही है, साथ ही उनकी कृपा हमेशा बरसती रहे, इसकी भी संभावना जगा देता है। ऐसे में उन्हें बुलाने का सही तरीका मालूम होना जरूरी है, ताकि मां खुशी-खुशी घर आएं और वहीं बस जाएं। क्या करें कि मां लक्ष्मी की कृपा दृष्टि आप पर भी पड़े, बता रही हैं स्वाति शर्मा
विधि पूर्वक हो पूजन पूजा चाहे जो भी हो, उसका एक विधान है। इस विधान के हिसाब से ही पूजा करने पर उसका पूरा फल मिलता है। मां लक्ष्मी का पूजन सही मुहूर्त में करें। लाल कपड़े पर मां की मूर्ति गणपति के दाहिनी तरफ रखें। पुरानी मूर्ति से नई मूर्ति में मां के आने का आह्वान करें। मंत्रों से आह्वान, भोग और भेंट समर्पित करना बेहतर रहता है। इस दौरान तुलसी पूजन भी करें। लक्ष्मी माता व तुलसी के पौधे के आगे घी का दीपक जलाएं। श्री सूक्त का पाठ भी कर सकती हैं।
दिवाली में गणपति की पूजा भी होती है। ये इसलिए ताकि गजानन मां के आपके घर में आने के सारे विघ्नों को मिटा दें और सब मंगल करें, जिससे लक्ष्मी अच्छे कामों में खर्च हो। गणपति की पूजा का विधान भी इसीलिए सबसे पहले है। उनकी पूजा में दूर्बा का इस्तेमाल करें और भोग में कैथा (एक तरह का फल) और गन्ना भेंट करें, ताकि गणपति प्रसन्न होकर आपकी सभी परेशानियां खत्म कर दें। गणपति के पुत्र शुभ और लाभ भी इस काम में उनकी मदद करते हैं। इस कारण दरवाजे के एक तरफ शुभ और दूसरी तरफ लाभ लिखने से घर में मुसीबतों का आगमन नहीं होता और मां के प्रवेश का रास्ता साफ हो जाता है।
dhanteras 2018, Dhanteras, Dhanteras shoping 2018, Dhanteras pooja, yam deep, laxmi puja, dipawali 2
नारायण यानी भगवान विष्णु मां लक्ष्मी के पति हैं और पति के बगैर मां कहीं नहीं जातीं। अपनी पूजा में मां लक्ष्मी से पहले नारायण का आह्वान जरूर करें। कलश पर नारियल को नारायण का स्वरूप माना जाता है। इस स्वरूप का पूजन करके मां को पुकारेंगी तो वे जरूर आएंगी। पूजा के बाद जिस तरह साल भर गणेश-लक्ष्मी की मूर्ती रखी और पूजी जाती है, वैसे ही कलश को भी स्थापित रहने दीजिए। अगर नारायण को विदा कर दिया तो लक्ष्मी भी उनके साथ लौट जाती हैं।
maa laxmi
मां लक्ष्मी को कमल का फूल अतिप्रिय है। इस त्योहार अपने घर के द्वार की सजावट में कमल के फूल को जरूर शामिल करें। घर के मुख्य दरवाजे के सामने रंगोली तो बनाती ही होंगी। उसी पर एक चपटे पात्र में पानी भरकर कमल का फूल भी सजा दीजिए। स्वागत के लिए खूबसूरत बंदनवार के साथ ही दरवाजे पर चावल के आटे से मां के चरण घर में प्रवेश करते हुए बनाने से मां घर में आती हैं। इसके अलावा मां को सफेद फूल वाले आक का पौधा भी बहुत पसंद है। घर के सामने या मुख्य द्वार पर इसका होना बहुत लाभ पहुंचाता है।
maa laxmi
स्वस्तिक में किसी भी ऊर्जा को पांच गुना ज्यादा शक्ति से खींचने की क्षमता होती है। अपने पूजा के स्थान पर इस चिह्न को बनाने के साथ ही घर की पूर्व दिशा में भी इसे बनाएं। मां को खीर अतिप्रिय है। उन्हें चावल की खीर या किसी भी तरह की सफेद मिठाई का भोग लगाकर खुश कर सकती हैं। उन्हें फलों में शरीफा बेहद पसंद है। इसे भेंट करना न भूलें। मां को सिंघाड़े और मखाने भी प्रिय हैं। मां को नारियल भी अच्छा लगता है। भोग के थाल में इन सभी को शामिल करें।
maa laxmi
शंख को मां लक्ष्मी का भाई माना जाता है। इसकी पूजा करने से मां अति प्रसन्न होती हैं। शंख के साथ आप और भी दूसरी समुद्री कौड़ियों और सीपों को पूजा में शामिल कर सकती हैं। मां लक्ष्मी को कमलगट्टा भी बहुत पसंद है। आप इसे मां को भेंट करें और इसकी माला से मां लक्ष्मी का मंत्र जाप करें। लक्ष्मी माता को चांदी भाती है। हो सके तो उनकी पूजा में भोग चांदी के पात्र में लगाएं। इसके अलावा इस दिन चांदी के सिक्के की पूजा भी करें।
diwali lakshmi puja muhurat 2018
गणेश-लक्ष्मी की मूर्ति धनतेरस के दिन लाना शुभ माना जाता है। लेकिन आप पहले ही लाना चाहती हैं तो बुधवार या शुक्रवार को लाएं। ध्यान रखें, गणपति की मूर्ति घर के लिए ले रहीं हैं तो सूंड दाएं हाथ की ओर हो और प्रतिष्ठान के लिए लेनी है तो बाएं हाथ की तरफ। मां लक्ष्मी की मूर्ति कमल आसन की हो तो बहुत अच्छे फल देती है। गज आसन भी अच्छा माना जाता है। ये भी ध्यान दें कि मां के एक हाथ में कलश और उससे गिरता धन हो। मूर्ति वही लाएं जो कांतिपूर्ण हो। (आचार्य राहुल द्विवेदी से बातचीत पर आधारित)
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Diwali 2018: On the occasion of Diwali this is the right way of goddess Lakshmi pooja