DA Image
हिंदी न्यूज़   › फोटो   › पंचांग-पुराण  ›  Chaitra Navratri 2019: घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, आठ शुभ संयोग में होगा मां का आगमन
पंचांग-पुराण

Chaitra Navratri 2019: घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, आठ शुभ संयोग में होगा मां का आगमन

Fri, 05 Apr 2019 07:53 AM
 Chaitra Navratri 2019: घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, आठ शुभ संयोग में होगा मां का आगमन
1/5

इमां दुर्गा की आराधना का पर्व चैत्र नवरात्रि छह अप्रैल से शुरू हो रहा है। इस बार आठ शुभ संयोग में मां का आगमन होगा। इन नौ दिनों में देवी के नौ रुप शैलपुत्री, ब्रहचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्माड़ा, स्कंदमाता, कात्यानी, कालरात्रि, महागौरी, सिद्धिदात्री की पूजा की जाएगी।

 Chaitra Navratri 2019: घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, आठ शुभ संयोग में होगा मां का आगमन
2/5

नवरात्रि पर प्रमुख देवी मंदिर पथवारी माता मंदिर, महालक्ष्मी मंदिर, चामुंडा देवी मंदिर, कामाच्छा देवी मंदिर समेत अन्य देवी मंदिरों में सुबह से लेकर शाम तक भक्तों की भारी भीड़ उमड़ेगी। पंडित विशाल तिवारी ने बताया कि छह अप्रैल को माता का आगमन होगा। जबकि मैया विदाई 14 अप्रैल को लेगी। इस वर्ष मां घोड़े पर सवार होकर आएगी। जबकि भैंसे पर विदा होगी। वैसे तो मां दुर्गा का वाहन सिंह है लेकिन नवरात्रि के पर्व पर तिथि और दिन के अनुसार मां भक्तों को दर्शन देती हैं।

 Chaitra Navratri 2019: घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, आठ शुभ संयोग में होगा मां का आगमन
3/5

जा के लिए जरूरी साम्रगी मां के श्रृंगार का सामान माता के श्रृंगार के लिए लाल चुनरी के साथ लाल चूड़ियां, सिंदूर, कुमकुम, मेहंदी, आलता और बिंदी शामिल करें। कलश स्थापना के लिए मिट्टी का कटोरा, जौ, साफ मिट्टी, कलश, रक्षा सूत्र, लौंग इलाइची, रोली और कपूर। आम के पत्ते, पान के पत्ते, साबुत सुपारी, अक्षत, नारियल, फूल, फल। पूजा के प्रसाद फूलदाना, मिठाई, मेवा, फल, के साथ ही आप इलायची, मखाना, लौंग, मिस्री हो। अखंड ज्योति के लिए नौ दिन अखंड ज्योति अगर आप जला रहे तो आप शुद्ध घी, मिट्टी का बड़ा दीया। हवन के लिए हवन कुंड, लौंग के जोड़े, कपूर, सुपारी, गुग्गुल, घी, पांच मेवा, चावल आदि। कन्या पूजन के लिए कन्याओं के लिए वस्त्र, प्लेट, उपहार आदि।

 Chaitra Navratri 2019: घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, आठ शुभ संयोग में होगा मां का आगमन
4/5

लक्ष्मी मंदिर यह मंदिर करीब 130 वर्ष पुराना बताया जाता है। इंद्रपुरी चौराहे स्थित मंदिर में भक्तों की आस्था का केंद्र है। इस मंदिर में लक्ष्मी माता का पूजन किया जाता है। लक्ष्मी मां को प्रसन्न करने के लिए हर दिन भक्त माथा टेंकने आते हैं।

 Chaitra Navratri 2019: घोड़े पर सवार होकर आएंगी मां, आठ शुभ संयोग में होगा मां का आगमन
5/5

कामाच्छा देवी मंदिर कालीबाड़ी चौराहे स्थित यह मंदिर 55 वर्ष पुराना बताया जाता है। मंदिर में सुबह और शाम दोनों समय आरती होती है। नवरात्रि में मंदिर में इतनी भीड़ होती है कि सड़क पर सभी भक्तों की कतार आ जाती है।

अगली गैलरी