Asian Games: rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis - एशियाई खेल: बोपन्ना-दिविज ने दिलाया भारत को स्वर्ण पदक 1 DA Image
20 फरवरी, 2020|8:40|IST

अगली फोटो

एशियाई खेल: बोपन्ना-दिविज ने दिलाया भारत को स्वर्ण पदक

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
1 / 8

अनुभवी भारतीय टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना और दिविज शरण ने शुक्रवार को कजाखिस्तान की जोड़ी के खिलाफ 2-0 की जीत के साथ 18वें एशियाई खेलों में पुरूष युगल वर्ग का स्वर्ण पदक जीत लिया।

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
2 / 8

युगल विशेषज्ञ बोपन्ना और दिविज की जोड़ी ने पुरूष युगल सेमीफाइनल मुकाबले में कजाखिस्तान के एलेक्सांद्र बुबलिक तथा डेनिस येवसेयेव को लगातार सेटों में 6-3, 6-4 से पराजित करते हुये मात्र 52 मिनट में इन खेलों की टेनिस प्रतियोगिता का पहला स्वर्ण भारत को दिला दिया।

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
3 / 8

भारतीय जोड़ी ने मैच में 3 में से 2 ब्रेक अंक भुनाये और पहले सर्व पर 87 फीसदी अंक बटोरे। उन्होंने कुल 30 विनर्स लगाये।

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
4 / 8

कजाख जोड़ी ने दूसरी ओर 4 डबल फॉल्ट किये और 11 बेजां भूलें की। उनके पास भारतीय जोड़ी की 4 बार सर्विस ब्रेक करने का मौका आया लेकिन वह एक भी ब्रेक अंक नहीं भुना सके।

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
5 / 8

अनुभवी भारतीय टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना और दिविज शरण ने शुक्रवार को कजाखिस्तान की जोड़ी के खिलाफ 2-0 की जीत के साथ 18वें एशियाई खेलों में पुरूष युगल वर्ग का स्वर्ण पदक जीत लिया।

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
6 / 8

युगल विशेषज्ञ बोपन्ना और दिविज की जोड़ी ने पुरूष युगल सेमीफाइनल मुकाबले में कजाखिस्तान के एलेक्सांद्र बुबलिक तथा डेनिस येवसेयेव को लगातार सेटों में 6-3, 6-4 से पराजित करते हुये मात्र 52 मिनट में इन खेलों की टेनिस प्रतियोगिता का पहला स्वर्ण भारत को दिला दिया।

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
7 / 8

भारतीय जोड़ी ने मैच में 3 में से 2 ब्रेक अंक भुनाये और पहले सर्व पर 87 फीसदी अंक बटोरे। उन्होंने कुल 30 विनर्स लगाये।

rohan bopanna and divij sharan clinch gold in Tennis
8 / 8

कजाख जोड़ी ने दूसरी ओर 4 डबल फॉल्ट किये और 11 बेजां भूलें की। उनके पास भारतीय जोड़ी की 4 बार सर्विस ब्रेक करने का मौका आया लेकिन वह एक भी ब्रेक अंक नहीं भुना सके।

अगली गैलरी