अगली स्टोरी

#सावन 2018

हिंदू वर्ष में सावन पांचवा महीना होता है। इसे वर्ष का सबसे पवित्र महीना माना जाता है। इसमें भगवान शिव की पूजा का विशेष महत्व होता है। 

महादेव के भक्तों के लिए यह महीना काफी अहम होता है। देशभर में 12 ज्योर्तिलिंगों में विशेष पूजा-अर्चना की जाती और कांवड़ यात्रा भी निकाली जाती है।

सावन के सोमवार के व्रत का भी काफी महत्व होता है। मान्यता है कि सावन के सोमवार पवित्र मन से व्रत करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं।

श्रावण मास में शिवलिंग की पूजा-अर्चना, रुद्राभिषेक और रात्रि जागरण जैसे धार्मिक अनुष्ठानों से भगवान शिव को प्रसन्न कर उनके आशीर्वाद मांगा जाता है।  

अन्य खबरें

  • 1
  • of
  • 73

देसी आदमियों की खासियत

संता बिना पानी मिलाये दारू पी रहा था

सोहन– क्या बात है पाजी आपने

पानी भी नहीं मिलाया,

संता – अबे पागल हम देसी आदमी हैं

इतना पानी तो हमारे मुंह में दारू देखकर ही आ जाता है