#Delhi2005blast
राजधानी के 2005 सीरियल बम ब्लास्ट केस में 16 फरवरी को फैसला आएगा। दिवाली से एक दिन पहले हुए तीन धमाकों में 62 लोगों की मौत हुई थी, जबकि 210 लोग घायल हुए थे। केस में 13 फरवरी को फैसला सुनाया जाना था लेकिन अब इसे गुरुवार को सुनाया जाएगा। तारिक अहमद डार, मोहम्मद हुसैन फाजिल और मोहम्मद रफीक शाह पर मिलकर साजिश रचने का आरोप है। इन ब्लास्ट का मास्टर माइंड तारिक अहमद डार बताया जाता है जो कि लश्कर-ए-तैयबा का ऑपरेटिव है।
  • 1
  • of
  • 1

funny joke: कुछ लोगो को मेरी याद तब आती है जब...

रोहन बोला: मुझे कोई याद नहीं करता।

तभी सोहन बोला: औऱ कुछ लोगो को मेरी याद तब आती है जब 

चमत्कार वाले मैसेज को भेजने के लिए 11 लोग नही मिलते है