DA Image

अगली स्टोरी

#छठ पूजा

लोकआस्था के महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान नहाय-खाए से रविवार 11 नवंबर को शुरू होगा। सोमवार 12 को लोहंडा-खरना और मंगलवार 13 नवंबर की शाम भगवान भास्कर को पहला सायंकालीन अर्घ्य और बुधवार 14 नवंबर की सुबह प्रात:कालीन अर्घ्य प्रदान किया जाएगा। गंगा घाटों व पवित्र नदियों में लाखों की तादाद में व्रती अर्घ्य देंगे। इस व्रत में 36 घंटे तक व्रती निर्जला रहते हैं। बिहार और पूर्वी उत्तरप्रदेश में छठ पर्व पूरी आस्था व भक्ति के साथ मनायी जाती है।

अन्य खबरें

  • 1
  • of
  • 163

घर पर शौचालय बनवाने के फायदे

टीचर- बच्चों बताओ, घर-घर शौचालय बनाने के क्या फायदे हैं?
पप्पू- मास्टर साब, वातावरण शुद्ध रहता है...
टीचर- शाबाश... और दूसरा...
पप्पू- आगे नहीं सरकना पड़ता...