DA Image

अगली स्टोरी

#चंद्रयान 2

भारत एक और बड़ी उपलब्धि हासिल करने जा रहा है। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (इसरो) 22 जुलाई को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन सेंटर से चंद्रयान-2 को लॉन्च करेगा। खास बात यह है कि चंद्रयान-2 चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंडिग करेगा। इस जगह पर इससे पहले किसी भी देश का कोई यान नहीं पहुंचा है। ज्यादातर चंद्रयानों की लैंडिंग उत्तरी गोलार्ध में या भूमध्यरेखीय क्षेत्र में हुई हैं। आपको बता दें कि यह लॉन्चिंग पहले 15 जुलाई को होनी थी लेकिन तकनीकी दिक्कत के चलते लॉन्चिंग को टाल दिया गया। 

चंद्रयान-2 6 या 7 सितंबर को चंद्रमा के दक्षिण ध्रुव के पास लैंड करेगा। ऐसा होते ही भारत चांद की सतह पर लैंडिंग करने वाला चौथा देश बन जाएगा। इससे पहले अमेरिका, रूस और चीन अपने यानों को चांद की सतह पर भेज चुके हैं। हालांकि कोई भी देश अब तक चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास यान नहीं उतार पाया है। ISRO ने 2009 में चंद्रयान-1 को चंद्रमा की परिक्रमा करने के लिए भेजा था लेकिन चांद की सतह पर उतारा नहीं गया था।

अन्य खबरें

  • 1
  • of
  • 58

चुटकुले

एक नए टीचर ने क्लास में पूछा : भारत के एक महान वैज्ञानिक का नाम बताओ

एक नए टीचर ने क्लास में पूछा : भारत के एक महान वैज्ञानिक का नाम बताओ ..?

स्टूडेंट :  सर, आलिया भट्ट..

टीचर : छड़ी लेकर .. यही सीखे हो ?

दूसरा : ये तोतला है सर..  आर्यभट्ट बोल रहा है