DA Image
हिंदी न्यूज़ › ओडिशा › ओडिशा: 2008 के कंधमाल दंगों के मामले में 30 लोगों को दो साल की जेल
ओडिशा

ओडिशा: 2008 के कंधमाल दंगों के मामले में 30 लोगों को दो साल की जेल

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mrinal Sinha
Fri, 30 Jul 2021 10:49 AM
ओडिशा: 2008 के कंधमाल दंगों के मामले में 30 लोगों को दो साल की जेल

यहां की एक अदालत ने गुरुवार को ओडिशा में 2008 के कंधमाल दंगों के एक मामले में 30 लोगों को दो साल की जेल की सजा सुनाई। साथ ही कोर्ट ने हर एक पर 1,000 रुपये का जुर्माना लगाया है।

कोटगढ़ में न्यायिक मजिस्ट्रेट फर्स्ट क्लास की अदालत ने सितंबर 2008 में कोटगढ़ के बांदापिपिली गांव के एक ईसाई युवक अतुल्य परीछा के साथ मारपीट के मामले में अपना फैसला सुनाया। परीछा ने आरोप लगाया कि उनके घर पर लोगों के एक समूह ने हमला किया था। इसके बाद स्थानीय पुलिस ने आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया।

सरकारी अधिवक्ता सबिता सामंत्रे ने कहा कि एक आरोपी की पहले ही मौत हो चुकी है जबकि छह अभी भी लापता हैं। अगस्त 2008 में, कंधमाल में माओवादियों द्वारा विहिप नेता स्वामी लक्ष्मणानंद सरस्वती की हत्या के बाद राज्य में सबसे हिंसक सांप्रदायिक दंगे हुए। हत्या से शुरू हुए दंगों के दौरान 40 से अधिक हिंदू और ईसाई मारे गए थे।

दंगे भड़कने के बाद, 828 FIR दर्ज की गईं, जिनमें से 790 मामले वास्तविक पाए गए। राज्य सरकार ने दो फास्ट ट्रैक अदालतें स्थापित की हैं जिन्हें अब भंग कर दिया गया है और मामले की सुनवाई जिले की अन्य अदालतों द्वारा की जा रही है।

संबंधित खबरें