फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News ओडिशाओडिशा में भाजपा के पहले सीएम बने मोहन माझी, 2 डिप्टी CM और 13 मंत्रियों ने भी ली शपथ

ओडिशा में भाजपा के पहले सीएम बने मोहन माझी, 2 डिप्टी CM और 13 मंत्रियों ने भी ली शपथ

भाजपा ने पहली बार ओडिशा में सरकार बनाई है। राज्य सरकार में दो डिप्टी सीएम के अलावा, आठ कैबिनेट मंत्री ने भी शपथ ली है। वहीं पांच राज्य मंत्रियों (स्वतंत्र प्रभार) ने भी शपथ ली है।

ओडिशा में भाजपा के पहले सीएम बने मोहन माझी, 2 डिप्टी CM और 13 मंत्रियों ने भी ली शपथ
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,भुवनेश्वरWed, 12 Jun 2024 06:25 PM
ऐप पर पढ़ें

Mohan Charan Majhi takes oath as chief minister of Odisha: चार बार के विधायक और आदिवासी नेता मोहन माझी ने ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पहले मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। पिछली विधानसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक रहे माझी हाल में हुए विधानसभा चुनाव में चौथी बार विधानसभा के लिए चुने गए। उन्होंने क्योंझर विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज की। जनता मैदान में राज्यपाल रघुवर दास ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। यह पहली बार है कि जब ओडिशा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनी है।

सीएम के अलावा, दो नए डिप्टी सीएम ने भी शपथ ली। वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पटनागढ़ से विधायक केवी सिंह देव तथा निमापारा विधानसभा क्षेत्र से पहली बार विधायक बनीं प्रभाती परिदा ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। बोलनगीर जिले के पटनागढ़ के पूर्व शाही परिवार से ताल्लुक रखने वाले कनक वर्धन सिंह देव छह बार विधायक रह चुके हैं और एक प्रतिष्ठित परिवार से आते हैं। उनके दादा राजेंद्र नारायण सिंह देव भी शाही परिवार से थे और मुख्यमंत्री रह चुके हैं। कनक पहली बार 1995 में राज्य विधानसभा के लिए चुने गए थे और तब से 2019 को छोड़कर लगातार जीतते आ रहे हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय से स्नातक कनक वर्धन सिंह देव 2000 से 2009 के बीच नवीन पटनायक सरकार में मंत्री रहे। उनकी पत्नी संगीता सिंह देव बोलनगीर से मौजूदा लोकसभा सांसद हैं। 

वहीं 57 वर्षीय प्रभाती परिदा ने भी ओडिशा के उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। परिदा ने 2005 में ओडिशा उच्च न्यायालय में वकालत की शुरुआत की थी। वह ओडिशा में भाजपा की महिला विंग की अध्यक्ष रह चुकी हैं। हालांकि, इससे पहले वह तीन बार निमापारा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ चुकी हैं, लेकिन 2024 में उन्हें सफलता मिली। भाजपा ने पहली बार ओडिशा में सरकार बनाई है। 

राज्य सरकार में दो डिप्टी सीएम के अलावा, आठ कैबिनेट मंत्री ने भी शपथ ली है। वहीं पांच राज्य मंत्रियों (स्वतंत्र प्रभार) ने भी शपथ ली है। सुरेश पुजारी, रबीनारायण नाइक, नित्यानंद गोंड और कृष्ण चंद्र पात्रा ने सीएम मोहन चरण माझी के नेतृत्व वाली कैबिनेट में मंत्री पद की शपथ ली। पृथ्वीराज हरिचंदन, डॉ. मुकेश महालिंग, विभूति भूषण जेना और डॉ. कृष्ण चंद्र महापात्रा ने भी सरकार में मंत्री के रूप में शपथ ली। ओडिशा की 147 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा ने 78 सीट जीतीं हैं, जबकि बीजू जनता दल (बीजद) को 51 सीट मिलीं।

समारोह में मोदी के अलावा भाजपा प्रमुख जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री अमित शाह, राजनाथ सिंह, भूपेन्द्र यादव, धर्मेंद्र प्रधान, जुएल ओराम, अश्विनी वैष्णव और अन्य शामिल हुए। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश, गोवा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, असम, गुजरात, छत्तीसगढ़ और उत्तराखंड सहित भाजपा शासित राज्यों के कई मुख्यमंत्री भी उपस्थित थे। समारोह में ओडिशा के निवर्तमान मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी शामिल हुए।

भाजपा को पहली बार ओडिशा में स्पष्ट जनादेश मिला जिससे बीजू जनता दल (बीजद) का 24 साल पुराना शासन खत्म हो गया। राज्य की 147 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा 78 सीट हासिल करके सत्ता में आई, जबकि पटनायक के नेतृत्व वाली बीजद को 51, कांग्रेस को 14, माकपा को एक सीट मिली तथा तीन सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार विजयी रहे।