DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   ओडिशा  ›  कोरोना: गांव में हो रहे समारोह को रोकने पहुंची पुलिस पर गांव वालों ने बरसाये डंडे और पत्थर, 12 गिरफ्तार

ओडिशाकोरोना: गांव में हो रहे समारोह को रोकने पहुंची पुलिस पर गांव वालों ने बरसाये डंडे और पत्थर, 12 गिरफ्तार

लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीPublished By: Nootan Vaindel
Mon, 03 May 2021 11:29 AM
कोरोना: गांव में हो रहे समारोह को रोकने पहुंची पुलिस पर गांव वालों ने बरसाये डंडे और पत्थर, 12 गिरफ्तार

ओडिशा के एक गांव में पुलिस पर हमला करने की एक घटना सामने आई है। जिसमें पुलिस वाले गांववालों को कोरोना प्रोटोकॉल के तहत इकट्ठा न होने के निर्देश देने के लिए गए थे। इस घटना में पुलिस के तीन कर्मी घायल हो गए हैं। पुलिस पर हमले के सिलसिले में भीड़ से कम से कम 12 ग्रामीणों को गिरफ्तार किया गया है। यह घटना ओडिशा के मयूरभंज जिले के देबनबाहली गांव में हुई है। पुलिस को शनिवार शाम गांव में हो रहे 'चैती परबा' समारोह की सूचना मिली थी जिसके बाद पुलिस कोविड के दिशानिर्देशों को लागू कराने के लिए गांव में आई थी।

मयूरभंज पुलिस के एसपी स्मित परमार ने इंडिया टुडे टीवी को बताया कि 12 लोगों को विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है। इसमें सभी मुख्य साजिशकर्ता और उल्लंघनकर्ता शामिल हैं जिन्होंने पुलिस पर हमला किया था।

देबनबाहली गाँव में 'चैती परबा' समारोह के लिए हजारों लोगों के जमावड़े के बारे में पुलिस को सूचना मिली थी, जिसके बाद, एएसआई बिस्वजीत दास महापात्रा के नेतृत्व में पुलिस दल स्थानीय लोगों को समझाने और कोविड -19 मानदंडों का पालन कराने के लिए गांव में पहुंचा। पुलिस की बात मानने की बजाय, कुछ उत्तेजित ग्रामीणों ने पुलिस कर्मियों पर लाठियों (डंडों) से हमला किया और उनका पीछा भी किया। हमले में कम से कम तीन पुलिस कर्मी घायल हो गए। ग्रामीणों ने पुलिस वाहन में तोड़फोड़ भी की।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि जांच जारी है और अधिक गिरफ्तारियां हो सकती हैं। विशेष रूप से, ओडिशा सरकार ने कोविड -19 मामलों में तेजी से वृद्धि के बीच वीकेंड लॉकडाउन की घोषणा की है।

स्थानीय अधिकारी और पुलिस कर्मी गाँव गए थे, जहाँ एक मेला चल रहा था, जिसमें आयोजकों को इस घटना को रोकने के लिए कहा गया था क्योंकि इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले सैकड़ों लोगों को वायरस के चपेट में आने का खतरा था। हालांकि, ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव किया और उनका पीछा किया।

संबंधित खबरें