DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जैव-विविधता की खातिर

हमने धरती मां के लिए हाल के दिनों में क्या किया है? पिछली 22 मई को संयुक्त राष्ट्र ने सभी हितधारकों को आमंत्रित किया कि वे अंतरराष्ट्रीय जैव-विविधता दिवस के मौके पर ‘धरती पर जीवन की विविधता’ को बनाए रखने में अपना योगदान दें। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, इस साल का विषय है: ‘सतत विकास के लिए जैव-विविधता।’ साल 2015-2030 के लिए संयुक्त राष्ट्र का एजेंडा सतत विकास के लक्ष्य के रूप में निर्धारित है, जो भावी पीढ़ियों के लिए पर्यावरण की सुरक्षा व संरक्षण के साथ जनसंख्या की जरूरतों को संतुलित करता है। इन लक्ष्यों में कई मुद्दे हैं, जैसे: खाद्य सुरक्षा, टिकाऊ खेती, पर्यावरण व प्राकृतिक संपदा प्रबंधन, भू-क्षरण तथा जैव-विविधता की हानि को ठीक करना और संकटग्रस्त आवास-क्षेत्रों को बचाना। सतत विकास लक्ष्य सरकार से लेकर जमीनी स्तर तक, सभी हितधारकों के सामने यह चुनौती पेश करते हैं कि कैसे हम धरती पर मौजूद जीवन का भला कर सकते हैं? ऐसे में, डिपार्टमेंट ऑफ एनवायर्नमेंट ऐंड नेचुरल रिसोर्सेस व बायो-डायवर्सिटी मैनेजमेंट ब्यूरो ने न्यू मीडिया से कहा है कि वह इसके लिए वास्तविक तथा आभासी जागरूकता पैदा करे। इन संगठनों ने एक प्रतिस्पद्र्धा का आयोजन किया है, जिसमें तटीय क्षेत्रों, नदी-नालों की सफाई तथा पौधे लगाते लोग अपनी सेल्फी भेज सकते हैं। डिजिटल समुदाय को इस काम से जोड़ना और सभी हितधारकों को शामिल करना निस्संदेह जनता, नागरिक समाज, निजी क्षेत्र और सरकारों में जागरूकता लाएगी। प्राकृतिक संसाधनों की सुरक्षा यह मांग करती है कि तमाम हितधारक इनको संपत्ति के रूप में नहीं देखें, बल्कि पारिस्थितिकी तंत्र के तत्व के रूप में देखें, जो सभी तरह की जिंदगी की मदद के लिए अरबों वर्ष में बने हैं। पारिस्थितिकी तंत्र में जैव-विविधता भोजन, स्वच्छ वायु, शुद्ध पेयजल, आजीविका आदि मुहैया कराती है। किंतु इंसानी हस्तक्षेप बुनियादी स्रोत को डराता है। एशिया-प्रशांत आर्थिक सहयोग संघ के 400 प्रतिनिधियों को ये सारी बातें फिलीपींस में ग्राफिक्स के जरिये बताई गईं। आम विकास व टिकाऊ विकास के बीच का द्वंद्व दुनिया के कई देशों को परेशान कर रहा है।   
सन स्टार, फिलीपींस

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जैव-विविधता की खातिर