फोटो गैलरी

Hindi Newsस्नोडेन को शरण देने से कई देशों का इनकार

स्नोडेन को शरण देने से कई देशों का इनकार

एनएसए के जासूसी कार्यक्रम का भंडाफोड़ करने वाले एडवर्ड स्नोडेन के किसी देश में शरण पाने के प्रयास को उस वक्त झटका लगा जब कई देशों ने उनके आवेदनों को खारिज कर...

स्नोडेन को शरण देने से कई देशों का इनकार
Tue, 02 Jul 2013 10:09 PM
ऐप पर पढ़ें

अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) के जासूसी कार्यक्रम का भंडाफोड़ करने वाले एडवर्ड स्नोडेन के किसी देश में शरण पाने के प्रयास को उस वक्त झटका लगा जब कई देशों ने उनके आवेदनों को खारिज कर दिया। आवेदन किए जाने के तत्काल बाद पोलैंड ने इसे ठुकरा दिया, जबकि भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि हम इस आग्रह को स्वीकार करने की कोई वजह नहीं देखते। नीदरलैंड ने भी ना कहा है।

रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के एक प्रवक्ता ने कहा कि स्नोडेन ने खुद अपना आवेदन वापस ले लिया। मास्को अमेरिका के आरोपों से बचना चाहता है। पुतिन ने कल कहा था कि स्नोडेन जब तक चाहें तब तक उन्हें शरण देने को तैयार है, लेकिन इस दौरान उन्हें अमेरिका के गोपनीय दस्तावेजों को लीक करने का सिलसिला बंद रखना होगा।

इसके साथ ही पुतिन ने कहा था कि स्नोडेन को अमेरिका को सौंपने की उनकी कोई योजना नहीं है। चीन के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि मैंने मीडिया की खबरों में देखा है कि राजनीतिक शरण के लिए आवेदन किया गया है, लेकिन इस बारे में हमारे पास कोई जानकारी नहीं है।

आस्ट्रिया, फिनलैंड, आईसलैंड, नार्वे और स्पेन ने शरण संबंधी आवेदन मिलने का आग्रह मिलने की पुष्टि की है, लेकिन उनका कहना है कि यह कानूनी तौर पर वैध नहीं है क्योंकि यह उनकी सीमा के भीतर से नहीं किया गया है। इटली ने कहा कि वह आवेदन को लेकर फिलहाल विचार कर रहा है।

उधर, बोलीविया के वाम राष्ट्रपति इवो मोरालेस ने मंगलवार को कहा कि उनका देश स्नोडेन को शरण देने के बारे में विचार करने का इच्छुक है। स्नोडेन ने रूस के अलावा कई दूसरे देशों में आवेदन किया है। ऐसे देशों में शामिल जर्मनी, नार्वे, आस्ट्रिया, पोलैंड, फिनलैंड और स्विटजरलैंड के अधिकारियों का कहना है कि उन्हें इन देशों की सरजमीं से आवेदन करना चाहिए।

विकीलीक्स का कहना है कि इस तरह का आवेदन बोलिविया, ब्राजील, चीन, क्यूबा, इक्वाडोर, फ्रांस, आइसलैंड, भारत, इटली, आयरलैंड, नीदरलैंड, निकारागुआ, स्पेन और वेनेजुएला के पास किया गया है। विकीलीक्स ने स्नोडेन के हवाले से एक बयान अपनी वेबसाइट पर पोस्ट किया है। उसके अनुसार एनएसए के इस पूर्व कांट्रैक्टर ने राष्ट्रपति बराक ओबामा पर नागरिकता को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है।
 एनएसए के पूर्व कांट्रैक्टर स्नोडेन द्वारा दस्तावेज लीक किए जाने के बाद अमेरिका के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जासूसी कार्यक्रम का भंडाफोड़ हुआ था। इस खुलासे के बाद वह अमेरिका से भाग गए और माना जा रहा है कि वह फिलहाल मास्को के हवाई अड्डे पर हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें