आस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक का दावा, सिकुड़ रहा है ओजोन छिद्र - आस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक का दावा, सिकुड़ रहा है ओजोन छिद्र DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक का दावा, सिकुड़ रहा है ओजोन छिद्र

आस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक का दावा, सिकुड़ रहा है ओजोन छिद्र

आस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों का कहना है कि पर्यावरण संबंधी गंभीर चिंताओं का सबब ओजोन छिद्र अब सिकुड़ रहा है और इस शताब्दी के अंत तक यह पूरी तरह से ठीक हो सकता है जिससे पूर्वी आस्ट्रेलिया में ज्यादा बारिश होगी। मेलबर्न स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के मैथ्यू तुली का कहना है कि विभिन्न देशों द्वारा अपनाए गए जलवायु संरक्षण उपायों के कारण ओजोन छिद्र ठीक हो रहा है।
    
मैथ्यू ने कहा कि यदि हमने कदम नहीं उठाए होते तो यह पर्यावरण की दशा और बदतर होती जाती। दरअसल प्रत्येक वर्ष ओजोन छिद्र इतनी तेजी से बढ़ रहा था कि वर्ष 2050 तक यह मेलबर्न और यहां तक की सिडनी के बराबर हो जाता।

एबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक वैज्ञानिकों को अब इस बात का सुकून है कि यह नौबत अब टल गई है और छिद्र अब सिकुड़ रहा है। आस्ट्रेलिया के अंटार्कटिका डिवीजन के प्रमुख अनुसंधानकर्ता एन्ड्रू क्लेकोकुक का कहना है कि ओजोन परत में छिद्र को मापने के लिए वह वेदर बैलून इस्तेमाल कर रहे हैं।
    
उन्होंने कहा कि हम डेविस स्टेशन से ओजोन छिद्र देखते रहे हैं। इस वर्ष हमने देखा कि ओजोन छिद्र अब इतना बड़ा नहीं है जितना यह पिछले वर्ष था। बहरहाल उन्होंने कहा कि छिद्र अभी भी काफी बड़ा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आस्ट्रेलियाई वैज्ञानिक का दावा, सिकुड़ रहा है ओजोन छिद्र