two policemen duped old woman - फिर दो 'पुलिसवालों' ने ठगा वृद्ध और महिला को DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिर दो 'पुलिसवालों' ने ठगा वृद्ध और महिला को

गिरजाघर से चेतमणि चौराहे की लगभग डेढ़ किलोमीटर की दूरी में सोमवार की सुबह दो कथित पुलिसवालों ने वृद्ध और बैंककर्मी महिला के जेवरात चेकिंग के नाम पर उड़ा दिए। शातिर ढंग से उन्होंने दोनों के जेवरात उतरवाकर कागज में लपेटकर थमा दिए। घर पहुंचे भुक्तभोगियों ने पुडि़या खोली तो उसमें पीतल के जेवरात मिले। घनी आबादी वाले इन क्षेत्रों में पुलिसवाला बनकर ठगी की लगातार घटनाओं का असली पुलिस के पास कोई जवाब नहीं है।

रामापुरा के कैलाश झमरिया (61) सोमवार की सुबह दूध लेने गिरजाघर चौराहे गए थे। लौटते वक्त बाइक सवार दो युवकों ने उन्हें रोका। कैलाश के मुताबिक, दोनों सादे कपड़ों में थे और उन्हें यूपी पुलिस का आईकार्ड दिखाया। दोनों ने कैलाश को लगभग डांटते हुए बताया कि आगे एक महिला की चेन छीनी गई है और तुम सुबह-सुबह चेन-अंगूठी पहनकर निकले हो। कैलाश सहम गए तो एक युवक ने जेब से कागज का टुकड़ा निकाला और उनकी दस ग्राम की चेन और पांच ग्राम की अंगूठी उसमें लपेटकर लौटा दी। घर जाकर कैलाश ने देखा तो पीतल की चेन मिली। इसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी।

पुलिस अभी पड़ताल कर ही रही थी कि भेलूपुर में चेतमणि चौराहे पर बैंककर्मी मंदाकिनी देवी ऐसी ही घटना का शिकार हो गईं। बाइक सवार खुद को पुलिसकर्मी बताकर उनकी सोने की चेन और कंगन उड़ा ले गए। कैलाश और मंदाकिनी देवी के बताए हुलिए में काफी समानताएं हैं। फिलहाल लक्सा और भेलूपुर पुलिस के अधिकारी दोनों मामलों में उचक्कों को चिह्नित करने की कोशिश में लगे हैं।

ऐसे 'मददगारों' से रहें सावधान
- जांच के दौरान पुलिस कभी भी जेवरात नहीं उतरवाती, कोई ऐसा कहे तो कंट्रोल रूम को दें सूचना
- सुनसान स्थान पर रोकने वालों की बात न सुनें तो अच्छा
- चौराहे पर इस तरह कोई रोके तो आसपास के लोगों से भी मांगे मदद
- आईकार्ड दिखाने वाले के नाम और फोटो की तस्दीक करें
- ऐसे लोगों का हुलिया और गाड़ी नंबर अच्छे से देख लें
- संभव हो तो मोबाइल से खींच लें फोटो
 
कहीं ये असली पुलिसवाले तो नहीं!
लक्सा और भेलूपुर में हुई दो वारदातों और पहले की घटनाओं में काफी समानता है। भुक्तभोगियों के मुताबिक, ठगी करने वाले नकली पुलिसवालों की देहभाषा बिल्कुल असली लगती है। रोकने और डांटने का अंदाज और कदकाठी सामने वाले को सतर्क कर देते हैं तो इन उचक्कों की चाल-ढाल में पुलिसवाला रुआब भी झलकता है। आशंका यह भी है कि कहीं पुलिस या किसी संबंधित विभाग का कोई कर्मचारी तो इस अपराध में लिप्त नहीं। जनपद में मुंबई के व्यवसायी से सोना लूट की घटना हो या चेतगंज में पकड़ा गया बाइक चोर गिरोह, दोनों वारदात में सिपाही और होमगार्ड शामिल रहे हैं।

ताबड़तोड़ घटनाएं
16 सितंबर-15 : रथयात्रा-सिगरा रोड पर दक्षिण भारतीय दर्शनार्थी बीबी लक्ष्मी की चेन, मंगलसूत्र और अंगूठी उड़ाई
5 सितंबर-15 : कैंट के महावीर मंदिर रोड पर दिवंगत अधिवक्ता नरेंद्र प्रताप सिंह की पत्नी प्रभावती देवी नकली पुलिसकर्मियों का शिकार बनीं
23 अगस्त-15 : सिद्धगिरी बाग क्षेत्र में वरिष्ठ फौजदारी अधिवक्ता देवेंद्र प्रताप सिंह की पत्नी के जेवरात छीने
तीन जुलाई-15 : लंका में मार्निंग वॉक पर निकली रिटायर प्रोफेसर की पत्नी के जेवरात उतरवाए
दो जुलाई-15 : दुर्गाकुंड में शाम के वक्त जामवंती देवी के जेवरात चेकिंग के नाम पर ले भागे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:two policemen duped old woman