DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो अप्रैल से फ्लोटिंग जेटी से उठाइए गंगा आरती का आनंद

शहर के घाटों पर रविवार से फ्लोटिंग जेटी से गंगा आरती का आनंद लिया जा सकता है। पिछले तीन माह से घाटों पर जेटी लगाने के विवाद का शुक्रवार को निराकरण निकाल लिया गया। दशाश्वमेध घाट स्थित जल पुलिस चौकी पर कार्यदायी संस्था पिरामल ग्रुप के डायरेक्टर हरिंद्र सिंह सिक्का के साथ जिला प्रशासन के अफसरों और नाविकों के साथ जेटी लगाने पर सहमति बनी।

गंगा आरती देखने के लिए दशाश्वमेध और राजेंद्र प्रसाद घाट पर फ्लोटिंग जेटी लगाने के लिए 10 जनवरी को पिरामल ग्रुप ने सीएसआर के तहत सामने घाट स्थित गंगा में अस्थायी रूप से निर्माण शुरू कराया। यहां से प्रशासन की मदद से नाव से खींचकर घाटों तक ले जाना था। इसी बीच नाविकों के विरोध के देखते हुए जिला प्रशासन ने हाथ खींच लिया। इसके बाद विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता लागू होने के बाद मामला ठंडे बस्ते में चला गया था। पिछले दिनों चुनाव बीतने के बाद से जेटी को लेकर कार्यदायी संस्था और जिला प्रशासन के बीच में बातचीत चल रही थी।

डायरेक्टर हरिंद्र सिंह सिक्का ने बताया कि जल पुलिस चौकी पर एडीएम सिटी, सिटी मजिस्ट्रेट, दशाश्वमेध सीओ और नाविकों के साथ वार्ता के बाद दो अप्रैल को सर्शत जेटी लगाने पर सहमति बनी। भविष्य में किसी विवाद से बचने के लिए सहमति पत्र पर सभी पक्षों से हस्ताक्षर कराया गया। तय हुआ कि टी शेप में जेटी लगायी जाएगी। ताकि नावों को अंदर आने में कोई दिक्कत न हो। जेटी के अंदर और उसके बाहर नावों को बांधा जाएगा। लेकिन किसी प्रकार की क्षति पहुंचाने पर नाविक समाज जिम्मेदार होगा। बाढ़ आने पर जेटी को किनारे लगा दिया जाएगा।

जेटी पर प्रकाश की भी होगी व्यवस्था

वाराणसी। दोनों घाटों पर पांच करोड़ की लागत से लग रही फ्लोटिंग जेटी पर एलईडी लाइट लगायी जाएंगी। आरती की भव्यता बढ़ाने के बहुरंगी प्रकाश की व्यवस्था होगी। डायरेक्टर ने कहा कि नदी के अंदर पचास फीट तक फैले जेटी की सुरक्षा के लिए कम्पनी के कर्मचारी तैनात रहेंगे। उन्होंने बताया कि जेटी से नाविकों को कोई दिक्कत नहीं होगी। आगामी दिनों में इसे अस्सी सहित अन्य घाटों पर भी लगाया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Floating Jeti will be installed at Dashashwemedh ghat