DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्वांचल में पांच में से चार सीटों पर सपा का कब्जा

पूर्वांचल में पांच में से चार सीटों पर सपा का कब्जा

पूर्वांचल की दस में से पांच सीटों पर निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने में कामयाब हुई समाजवादी पार्टी को गुरुवार को एक और बड़ी सफलता मिली। बची हुई पांच सीटों पर हुए चुनाव में चार सीटों पर सपा के ही प्रत्याशियों ने जीत हासिल की है।

मिर्जापुर में बसपा ने अपनी सीट बचाते हुए सपा को हरा दिया है। वाराणसी और चंदौली में ही भाजपा ने अपने प्रत्याशी उतारे थे लेकिन दोनों ही सीटों पर उसे हार का मुंह देखना पड़ा। इससे पहले चार जनवरी को ही बलिया, गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़ और भदोही में सपा प्रत्याशियों को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया जा चुका है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में प्रतिष्ठापरक जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर समाजवादी पार्टी की अपराजिता सोनकर ने 48 में से 30 वोट पाकर जीत दर्ज की। भाजपा प्रत्याशी अमित सोनकर को मात्र 17 वोट से संतोष करना पड़ा। एक वोट अवैध घोषित हो गया। बीटेक कर पहली बार चुनावी मैदान में उतरी अपराजिता सूबे की सबसे कम उम्र की महिला जिला पंचायत अध्यक्ष मानी जा रही हैं।

नामांकन के समय ही उलटफेर दिखाने वाले चंदौली जिले में सपा की रणनीति कामयाब रही। यहां सपा की सरिता सिंह ने भाजपा की किरन सिंह को तीन वोटों से हरा दिया। सरिता को 19 और किरन सिंह को 16 वोट मिले। सपा ने पहले यहां से पूर्व सांसद रामकिशुन यादव के बेटे संतोष यादव को प्रत्याशी बनाया था।

सकलडीहा विधायक सुशील सिंह की पत्नी और वाराणसी की जिला पंचायत अध्यक्ष रही किरन सिंह की उम्मीदवारी को देखते हुए सपा ने अंतिम समय में रणनीति बदल दी। सपा ने बसपा नेता और निर्वतमान अध्यक्ष छत्रबलि सिंह की पत्नी सरिता को अपना प्रत्याशी बना दिया और संतोष यादव का पर्चा वापस ले लिया था।

सोनभद्र में सपा के अनिल यादव ने बसपा के सुभाष पाल को एकतरफा मुकाबले में हरा दिया। अनिल को 30 और सुभाष को मात्र तीन वोट मिले। आरोपों-प्रत्यारोपों को देखते हुए यहां अतिरिक्त सतर्कता बरती गई। जौनपुर में भी मुकाबला एकतरफा रहा। यहां सपा के राजबहादुर ने प्रभावती पाल को 79 मतों से हरा दिया। राजबहादुर को 83 में से 81 और प्रभावती को केवल दो वोट मिले। बसपा की एमएलसी रही प्रभावती ने जिला पंचायत का चुनाव से कुछ समय पहले ही विधायकी से इस्तीफा दिया था। मिर्जापुर में जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी बचाने में बसपा की प्रमिला सिंह कामयाब हो गईं। उन्होंने सपा की पारो यादव को 23 वोट से हरा दिया। प्रमिला को 33 और पारो को सिर्फ 10 वोट मिले।
एमएलसी श्यामनारायण उर्फ विनीत सिंह की पत्नी प्रमिला के साथ उनकी ननद नीलम सिंह भी मैदान में थीं लेकिन उन्हें सिर्फ एक वोट मिला।

परिणाम इस प्रकार हैं
जिला  जीते (पार्टी, वोट)
वाराणसी- अपराजिता (सपा, 30)  
चंदौली- सरिता सिहं (सपा, 19)
जौनपुर- राजबहादुर (सपा, 81)  
सोनभद्र- अनिल यादव (सपा, 30)  
मिर्जापुर-  प्रमिला (बसपा, 33)

निर्विरोध निर्वाचित प्रत्याशी
बलिया : सुधीर पासवान
गाजीपुर : डा. वीरेन्द्र यादव
मऊ : अंशा यादव
आजमगढ़ : मीरा यादव
भदोही : काजल यादव

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: varanasi district panchayat president sp aparajita victorious