DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UP चुनाव: इस बार पार्टियां 'थाली’ और ‘कैमरे’ पर मांगेंगी वोट

UP चुनाव: इस बार पार्टियां 'थाली’ और ‘कैमरे’ पर मांगेंगी वोट

प्रदेश में होने जा रहे विधान सभा चुनाव में कई छोटे दलों के चुनाव निशान इस बार बदले हुए रहेंगे। पीस पार्टी इस बार कांच के गिलास चुनाव निशान पर लड़ेगी। इससे पहले वर्ष 2012 का विधान सभा और 2009 व 2014 का लोकसभा चुनाव पीस पार्टी ने सीलिंग फैन चुनाव निशान पर लड़ा था।

13 दिसम्बर को केन्द्रीय चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे पंजीकृत गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को चुनाव चिन्ह आवंटित करने के लिए ड्रा किया था। इसी ड्रा में अपना दल के कृष्णा पटेल धड़े से कप प्लेट चुनाव निशान छिन कर अनुप्रिया पटेल की सरपरस्ती वाले अपना दल एस (सोनेलाल) को आवंटित कर दिया गया था।

इसी तरह पहली बार चुनाव में उतरी लोक गठबंधन पार्टी को मोमबत्ती, आदर्शवादी कांग्रेस पार्टी को बैटसमैन, जन कल्याण पार्टी को गैस सिलेण्डर, सर्वोदय भारत पार्टी को कैमरा, निर्बल इण्डिया शोषित हमारा आम दल को भोजन वाली थाली, भारत राष्ट्रीय डेमोक्रेटिक पार्टी को जूता चुनाव चिन्ह आवंटित किया गया है। सर्वजन कल्याण लोकतांत्रिक पार्टी को गैस स्टोव, हमारी अपनी पार्टी को अंगूठी, राष्ट्रीय आमजन सेवा पार्टी को टेलीफोन, राष्ट्रीय शहरी विकास पार्टी को दूरबीन, हाकिम अपना पार्टी को हाकी बाल चुनाव निशान आवंटित हुआ है।

चुनाव आयोग हर बार पंजीकृत गैरमान्यता प्राप्त दलों की मांग पर हर चुनाव में उन्हें चुनाव चिन्ह आवंटित करता है। कभी -कभी चुनाव चिन्ह बदल जाते हैं तो कई बार पुराने चुनाव चिन्ह बरकरार रहते हैं। इस बार भी चुनाव आयोग ने यह कवायद की है।

यूपी विधानसभा से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:up election 2017 small political parties have different election symbol