DA Image
14 जुलाई, 2020|2:18|IST

अगली स्टोरी

एएमयू मेडिकल प्रवेश परीक्षा के प्रश्न पत्र से हटाए गए तीन सवाल

एएमयू की प्रथम चरण की मेडिकल प्रवेश परीक्षा के प्रश्न पत्र से तीन सवालों को रद्द कर दिया गया है। जाहिर सी बात है, इसका परिणाम पर असर पड़ेगा। वहीं अभ्यर्थी सवाल उठा रहे हैं कि इतनी महत्वपूर्ण परीक्षा के प्रश्न पत्र को बनाने में सतर्कता क्यों नहीं बरती जाती।

बीती 10 अप्रैल को एमबीबीएस और बीडीएस में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा हुई थी। परीक्षा के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन ने आंसर की जारी करके प्रश्न पत्र संबंधी आपत्तियां अभ्यर्थियों से मांगी थीं। उन आपत्तियों पर तीन सवालों को प्रश्न पत्र के चारों सेट से रद्द कर दिया गया है। प्रश्न पत्र में कुल 200 प्रश्न थे। अब परिणाम 197 प्रश्नों के सवालों के हिसाब से बनेगा। अभ्यर्थियों की आपत्ति है कि मेडिकल जैसी महत्वपूर्ण प्रवेश परीक्षाओं के प्रश्न पत्र बनाने में तमाम प्रक्रिया को अपनाया जाता है। कई विशेषज्ञ प्रश्न और उनके वैकल्पिक उत्तरों की जांच करते हैं। लेकिन, फिर भी असावधानी बरतते हुए गलतियां छोड़ दी जाती हैं। जिसका असर अभ्यर्थियों के परिणाम पर पड़ता है। हर साल ऐसा ही होता है। फिर भी कोई सुधार नहीं किया जा रहा।

एग्जाम कंट्रोलर प्रो. जावेद अख्तर ने बताया कि दो सूरत में प्रश्न हटाया जाता है। पहला कि वैकल्पिक उत्तर में उसका एक भी जवाब सही न हो। दूसरा कि दो सही जवाब वैकल्पिक उत्तर में दिए गए हों। सिर्फ एएमयू ही नहीं हर परीक्षा में प्रश्न पत्र से प्रश्नों को कमियों की वजह से हटाया जाता है। आपत्ति करना बेबुनियाद है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:three question deleted to papers of medical entrance examination