DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी सीपीएमटी लीक कांडः सुरेंद्र ने रामेश्वरम कालेज से ही लीक कराया था पेपर

यूपी सीपीएमटी में पेपर लीक की जांच कर रही यूपी एसटीएफ को कई महत्वपूर्ण तथ्य हाथ लगे हैं। पुख्ता प्रमाण मिल गए हैं कि पेपर लीक कराने में सुरेंद्र कुमार शुक्ला का ही मुख्य हाथ था। उसने ही रामेश्वरम् कालेज से पेपर लीक कराया। इस साजिश में उसके छह अन्य साथियों ने उसका साथ दिया। एसटीएफ अब जल्द ही उन पर शिकंजा कसेगी।

एसटीएफ के अधिकारियों ने बताया कि पेपरलीक कांड में गिरफ्तार हुए गैंग के सरगना और साल्वरों ने बताया था कि रामेश्वरम् कालेज से जुड़े सुरेंद्र कुमार शुक्ला ने उन्हें पेपर मुहैया कराया था। एसटीएफ ने सुरेंद्र को अभियुक्त तो बनाया ही और धरपकड़ के लिए छापेमारी भी की लेकिन वह अभी तक हाथ नहीं लग सका। इस दौरान एसटीएफ को सुरेंद्र के खिलाफ कई ठोस सुबूत भी हाथ लगे हैं। एसटीएफ का कहना है कि सुरेंद्र भागा हुआ है और उसके परिवारीजन भी फरार हैं।

एसटीएफ को पता चला है कि पेपर लीक करने के लिए सुरेंद्र ने कालेज के कुछ लोगों की मदद ली। इसमें परीक्षा में ड्यूटी पर तैनात अधिकारी और कुछ अन्य कर्मचारी भी थे। उन्हीं लोगों ने पेपर शुरू होने से पहले पेपर  निकाला, उसकी फोटो कापी कराई और फिर नकल के लिए उस केंद्र पर पहुंचाया जहां उसकी बेटी परीक्षा दे रही थी। यह अभी साफ नहीं हो सका है कि बेटी ने नकल की अथवा नहीं? एसटीएफ के एएसपी का कहना है कि इस कांड में सुरेंद्र के साथ पांच और लोगों की पहचान हो चुकी है। उनकी भूमिका भी गलत पाई गई है। जल्द ही उनकी गिरफ्तारी की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी सीपीएमटी लीक कांडः सुरेंद्र ने रामेश्वरम कालेज से ही लीक कराया था पेपर